मध्य प्रदेश के नए सीएम कमलनाथ ने ली शपथ

18वें मुख्यमंत्री के रूप में कमलनाथ ने शपथ ग्रहण कर ली - Panchayat Times

भोपाल. राजस्थान के बाद मध्यप्रदेश में नई सरकार का गठन हो गया है. राज्य के 18वें मुख्यमंत्री के रूप में कमलनाथ ने शपथ ग्रहण की है. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने उन्हें शपथ दिलाई.
इस अवसर पर भोपाल के जम्बूरी मैदान में कांग्रेस सहित दूसरे दलों के नेताओं ने शिरकत की. साथ ही भारी संख्या में जनता भी इस ऐतिहासिक पल का साक्षी बनी.

शपथग्रहण में शामिल हुए शिवराज और अन्य भाजपा नेता

प्रदेश के नए मुख्यमंत्री कमलनाथ के शपथग्रहण समारोह में देश के कई नेता शामिल हुए. इनमें कांग्रेस के नेता और मुख्यमंत्री तो थे ही, अन्य समर्थक दलों के नेता फारुख अब्दुल्ला, चंद्राबाबू नायडू, पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा, शरद पंवार, शरद यादव आदि शामिल थे. पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और अन्य भाजपा नेता भी कमलनाथ के शपथग्रहण समारोह में शामिल रहे.

18वें मुख्यमंत्री के रूप में कमलनाथ ने शपथ ग्रहण कर ली - Panchayat Times

ये भी पढ़ें- अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री और सचिन पायलट ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली

कुछ दिनों पहले तक एक-दूसरे पर बयानों की तलवारें ताने रहने वाले नेता सोमवार को एक मंच पर दिखाई दिए. कांग्रेस और अन्य पार्टियों के नेताओं के साथ पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर एवं पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी भी शपथग्रहण में शामिल हुए. जोशी के पास आकर अनेक नेताओं ने जहां उनसे सौजन्य भेंट की, वहीं पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर भी कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह समेत अन्य नेताओं से मिलते देखे गए.

18वें मुख्यमंत्री के रूप में कमलनाथ ने शपथ ग्रहण कर ली - Panchayat Times

गले मिले शिवराज और महाराज

भारतीय जनता पार्टी के चुनाव अभियान में एक टीवी विज्ञापन खासा लोकप्रिय हुआ था, जिसमें शिवराज सिंह चौहान के शासन की उपलब्धियों को गिनाते हुए लोग कहते थे, माफ करो महाराज, हमारा नेता तो शिवराज. कहा जाता है कि भाजपा का यह विज्ञापन महाराज यानी ज्योतिरादित्य सिंधिया को टारगेट करके ही बनाया गया था. लेकिन शपथ ग्रहण समारोह के मंच पर शिवराज और महाराज गले मिलते नजर आए. पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी मिले. बाद में सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान एवं मुख्यमंत्री कमलनाथ ने हाथ पकड़कर फोटोग्राफर्स को पोज भी दिये.

18वें मुख्यमंत्री के रूप में कमलनाथ ने शपथ ग्रहण कर ली - Panchayat Times

बता दें कि 2018 के मध्‍य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 114 सीटें मिली. बीजेपी के खाते में 109 सीटें आयीं, लेकिन सपा और बसपा के समर्थन के बाद आखिरकार कांग्रेस मध्‍य प्रदेश में सरकार बनाने में कामयाबी रही. इसके बाद कमलनाथ को 14 दिसम्बर को मध्य प्रदेश कांग्रेस विधायक दल का नेता निर्वाचित किया गया.

18वें मुख्यमंत्री के रूप में कमलनाथ ने शपथ ग्रहण कर ली - Panchayat Times