नक्सलियों के हमले में दरोगा समेत चार जवान शहीद

नक्सलवाद झारखंड में एक बड़ी समस्या, बिते वर्ष 36 मुठभेड़ की घटनाएं - Panchayat Times
प्रतीक चित्र
लातेहार. जिले के चंदवा थाना क्षेत्र के लुकुईया गांव मोड़ के पास शुक्रवार देर रात पुलिस वाहन पर नक्सलियों ने हमला कर दिया. इस घटना में जिला पुलिस के एसआई समेत चार जवान शहीद हो गए. शहीदों में चंदवा थाना में पदस्थापित सब इंस्पेक्टर सुकरा उराँव, चालक यमुना प्रसाद, जवान सिकंदर सिंह और शम्भू प्रसाद शामिल है.

जानकारी के अनुसार रात्रि गश्त में निकली पीसीआर वैन को नजदीक से टारगेट करके नक्सलियों ने फायरिंग कर दी, जब तक पुलिस पार्टी कुछ समझ पाती, तब तक पीसीआर में सवार सभी लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. एसआई सुकरा उराँव, चालक यमुना प्रसाद, जवान, सिकंदर सिंह गोली लगने के बाद घटनास्थल पर ही शहीद हो गये.
नक्सलियों के हमले में दरोगा समेत चार जवान शहीद - Panchayat Times
जबकि शम्भू प्रसाद गंभीर रूप से घायल हो गए. उन्हें 8 गोलियां लगी थी. उनकी गंभीरता को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए रांची रिम्स रेफर किया गया लेकिन उन्होंने रास्ते (चान्हो) में ही दम तोड़ दिया. एक अन्य जवान दिनेश राम फायरिंग से कुछ ही मिनट पहले गाड़ी से उतरकर लघुशंका के लिए बाहर गया था. गोली चलने की आवाज सुनकर उसने छुपकर अपनी जान बचायी.
फायरिंग की सूचना मिलने के बाद सीआरपीएफ के सहायक कमांडेंट रविशंकर सिंह और चंदवा थाना प्रभारी मोहन पांडेय जवानों के साथ घटनास्थल पहुंचे. पुलिस ने उग्रवादियों के खिलाफ छापेमारी अभियान आरंभ कर दिया है. उधर लोहरदगा से भी अतिरिक्त पुलिस बल घटनास्थल पर भेजा गया हैं.
इस घटना के बाद दोनों ओर से करीब 70 से 80 राउंड फायरिंग हुई है. जवान मोर्चा संभाले हुए हैं और जवाबी कार्रवाई में लगे हुए है.