खूंटी: जल जीवन मिशन के तहत 42 गांवों में हर घर में नल से जल पहुंचाने के लिए कार्यशाला का आयोजन

खूंटी: जल जीवन मिशन के तहत 42 गांवों में हर घर में नल से जल पहुंचाने के लिए कार्यशाला का आयोजन - Panchayat Times

खूंटी. प्रधानमंत्री द्वारा प्रारंभ की गई भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना जल जीवन मिशन के तहत खूंटी प्रखण्ड में प्रथम फेज में लक्षित 42 ग्रामों के मुखिया, जल सहियाओं को ग्राम कार्य-योजना बनाने हेतु उन्मुखीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया.

कार्यशाला की अध्यक्षता कार्यपालक अभियंता, पेयजल एवं स्वच्छता प्रमण्डल, खूंटी के द्वारा किया गया. उक्त कार्यशाला में खूंटी जिला में कार्यरत स्वयंसेवी संस्थाओं को भी शामिल किया गया, जिसमें प्रदान, सिनी प्लान, लीड्स एवं सिनी टाटा ट्रस्ट के प्रतिनिधि शामिल हुए.

आज के इस कार्यशाला में उपस्थित सभी प्रतिभागियों को अपने-अपने ग्राम का कार्य-योजना बनाने के संबंध में जिला समन्वयक, नीरज प्रियदर्शी द्वारा विस्तार से जानकारी दी. इस दौरान मुख्य रूप से ग्राम कार्य-योजना बनाने में निम्नलिखित तरीके का प्रयोग के संबंध में बताया गया :-

1. ग्रामीणों के सहभागिता से विलेज रिसोर्स मैपिंग एवं पीआरए एक्सरसाइज के माध्यम से ग्राम का नजरी नक्शा तैयार किया जाना. नजरी नक्शा में ग्रामीणों से ग्राम में उपलब्ध जल स्रोतों के संबंध में विस्तृत जानकारी प्राप्त किया जाना आवश्यक है.

2. चार्ट पेपर के माध्यम से नजरी नक्शा को दर्शाया जाना.

3. जल स्रोत में कुंआ, तालाब, हैंडपंप, डोभा, डाड़ी, चुंआ, नदी आदि के विषय में ग्रामीणों से जानकारी प्राप्त करना.

4 टोलावार सभी घरों में जलापूर्ति हेतु कार्य-योजना तैयार किया जाना.

5. कनीय अभियंता के माध्यम से स्थल निरीक्षण कर ग्राम की कार्य-योजना में अपने सक्रिय भागीदारी निभाना.

6. कार्य-योजना को विशेष ग्राम सभा कर जितनी स्कीम ली जानी है उस पर सहमति प्राप्त करना.

7. अन्तिम व्यक्ति तक नल से जल दिये जाने के संबंध में विस्तार से चर्चा करना.

उपरोक्त सभी बिन्दुओं को ध्यान में रखते हुए संबंधित ग्राम के जलसहिया, मुखिया एवं ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति के सदस्य अपनी सक्रिय भागीदारी निभाते हुए कार्ययोजना का फाइनल ड्राफ्ट तैयार कर जिला में समर्पित करना है. सभी ग्रामों से कार्ययोजना को जिला स्तर पर समर्पित करना तथा जिला स्तर से कार्ययोजना बनाकर उसे राज्य स्तर पर समर्पित करने का लक्ष्य रखा गया है ज्ञात हो कि वर्तमान में प्रथम फेज में कुल 110 गांवों को लिया गया है.

आज के इस उन्मुखीकरण कार्यषाला में कार्यपालक अभियंता द्वारा आधारभूत सर्वेक्षण कर घरवार कनेक्षन विषय पर विस्तार से चर्चा की गई उपस्थित जलसहियाओं द्वारा इस कार्य में अपनी सक्रिय भागीदारी निभाने की सहमति जताई. विदित हो कि जल जीवन मिशन का कार्यकाल 2019-2024 तक है.

इसके तहत सभी घरों को कार्यात्मक, घरेलु नल कनेक्सन दिये जाने पर विशेष जोर है. इसके तहत खूंटी जिला के सभी गांवों के कार्य योजना तैयार किया जाना है. उक्त कार्यशाला में कार्यपालक अभियंता, सहायक अभियंता, कनीय अभियंता, जिला समन्वयक एसएंडएच/आईइसी/एचआरडी, जिला समन्वयक एमएंडइ, राँची अंचल राँची, प्रखण्ड समन्वयक, सोशल मोब्लाईजर, मुखिया एवं जलसहिया उपस्थित थे.