बिहार चुनाव : महागठबंधन ने जारी किया घोषणा पत्र, किसान और युवाओं को लेकर बड़े वादे

बिहार चुनाव : महागठबंधन ने जारी किया घोषणा पत्र, किसान और युवाओं को लेकर बड़े वादे

पटना. बिहार विधानसभा चुनाव के लिए महागठबंधन ने अपना संयुक्त घोषणा पत्र जारी कर दिया है, नेता प्रतिपक्ष और महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने प्रेस वार्ता के जरिए “प्रण हमारा संकल्प बदलाव का” टैग लाइन के साथ शुरुआत करते हुए घोषणा पत्र की मुख्य बातें मीडिया से साझा की, इस घोषणा पत्र में किसानों और युवाओं को लेकर बड़े वादे किए गए है.

जानिए महागठबंधन के संयुक्त घोषणा पत्र की मुख्य बातें

  • राज्य में खाली 4.50 लाख और 5.50 लाख सरकारी पदों पर भर्ती.
  • राज्य में सरकारी नौकरी के लिए फॉर्म पर लिए जाने वाले शुल्क को माफ किया जाएगा.
  • राज्य में किसान कर्ज माफी होगी. किसानों के ऋण को माफ किया जाएगा.
  • राज्य में नियोजन प्रथा खत्म की जाएगी. नियोजित शिक्षकों को परमानेंट किया जाएगा.
  • विधान सभा के पहले दिन तीनों कृषि बिल के खिलाफ प्रस्ताव पास लायेंगे
  • शिक्षा पर राज्य के कुल खर्च का 12 फीसदी हिस्सा खर्च किया जाएगा.
  • नौकरशाही में ट्रांसफर प्रक्रिया मेरिट लिस्ट के आधार पर हो इसके लिए एसओपी जारी किया जाएगा.

तेजस्वी यादव ने यह ऐलान भी किया कि इंटरव्यू में जाने के लिए अभ्यर्थियों को किराया भी दिया जाएगा. इसके साथ ही कर्पूरी श्रम केंद्र पूरे राज्य में खोलेंगे. नियोजित शिक्षकों को समान काम समान वेतन देंगे. पुल पुलिया पूरे बिहार में दुरुस्त करेंगे. हमारी सरकार ने तय किया था बिहटा में एयरपोर्ट बनेगा. बिजली के क्षेत्र में बिहार में उतना उत्पादन नहीं है, बिजली खरीद कर सरकार बेचती है, लेकिन हमारा जोर उत्पादन पर होगा.

इसके साथ ही इस मौके पर तेजस्वी यादव ने समस्त बिहारवासिओं को नवरात्रि की शुभकामनाएं भी दी और कहा, आज हम लोग कलश की स्थापना कर संकल्प लेते हैं. ‘प्रण हमारा संकल्प बदलाव का’ ये सपना सच होने वाला है.