शिमला समेत चार जिलों का पारा शून्य से नीचे

शिमला समेत चार जिलों का पारा शून्य से नीचे - Panchayat Times

शिमला. हिमाचल प्रदेश में मार्च महीने में भी ठंड जाने का नाम नहीं ले रही है. शिमला सहित चार जिलों में तापमान के जमाव बिंदु के नीचे पहुंचने से जनजीवन प्रभावित हो रहा है. बर्फबारी की वजह से विख्यात पर्यटन स्थलों कुफरी व मनाली का तापमान पिछले कई दिनों से माइनस में बना हुआ है. मौसम विभाग ने पर्वतीय इलाकों में 20 मार्च तक मौसम के खराब रहने की संभावना जताई है. ऐसे में ठंड से फिलहाल राहत मिलने के आसार नहीं हैं.

लाहौल-स्पीति सबसे ठंडा जिला रहा, जहां रविवार की सुबह पारा -8.9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. इसी तरह किन्नौर जिला के कल्पा में न्यूनतम तापमान -3.6, शिमला के कुफरी में -1.3 और कुल्लू जिला के मनाली में -1.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ. इसके अलावा शिमला में 1.4, डलहौजी में 1.9, पालमपुर में 2, सोलन में 4.2, जुब्बड़हट्टी में 4.8, भुंतर में 4.9, चंबा में 5.3, धर्मशाला में 5.8, कांगड़ा में 6, सुंदरनगर में 6.3, ऊना में 6.8, हमीरपुर में 8.7 और बिलासपुर में 9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.

राज्य की पर्वत श्रृंखलाओं पर शनिवार की रात ताज़ा हिमपात हुआ. राजधानी शिमला में भी हल्की बर्फ़बारी हुई. शिमला जिला के ऊपरी इलाकों चौपाल, खड़ापत्थर इत्यादि में बर्फ़बारी का वाहनों की आवाजाही पर असर पड़ा है.

मौसम विभाग ने अगले 24 घण्टों के दौरान पर्वतीय इलाकों में और हिमपात की सम्भावन जताई है. जबकि मैदानी क्षेत्रों में मौसम साफ रहेगा. राज्य के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में 20 मार्च तक मौसम के खराब रहने का अनुमान है.