केलंग में पारा शून्य से 10.3 डिग्री नीचे

केलंग में पारा शून्य से 10.3 डिग्री नीचे-Panchayat Times
साभार इंटरनेट

शिमला. हिमाचल प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में तापमान के माइनस में बने होने के कारण भीषण शीतलहर जारी है. लाहौल-स्पीति जिले के मुख्यालय केलंग में मंगलवार सुबह न्यूनतम तापमान शून्य से 10.3 डिग्री नीचे दर्ज किया गया. इसी तरह किन्नौर जिला के कल्पा में पारा शून्य से चार डिग्री नीचे तथा कुल्लू के विख्यात पर्यटन स्थल मनाली में शून्य से दो डिग्री नीचे रहा. जनजातीय इलाकों केलंग और कल्पा में पिछले तीन महीने से भी अधिक समय से पारा माइनस में है. इन स्थलों में प्राकृतिक जलस्त्रोतों का पानी जम गया है. आलम यह है कि बर्फ पिघलाकर लोगों को अपनी प्यास बुझानी पड़ रही है.

हालांकि राज्य के अन्य इलाकों में तापमान में हल्की बढ़ोतरी से ठंड का प्रकोप कुछ हद तक कम हुआ है. राजधानी शिमला में न्यूनतम तापमान 4.1 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया. बीते दिनों यहां का पारा भी माइनस में चल रहा था. इसके अलावा सियोबाग में न्यूनतम तापमान 1.5 डिग्री, कुफरी में 2 डिग्री, सोलन में 2.2 डिग्री, भुंतर में 2.3 डिग्री, पालमपुर में 3 डिग्री, सुंदरनगर में 3.5 डिग्री, चंबा में 3.7 डिग्री, डल्हौजी में 3.9 डिग्री, शिमला में 4.1 डिग्री, धर्मशाला में 4.2 डिग्री, कांगड़ा में 5 डिग्री, उना में 5.4 डिग्री, हमीरपुर में 5.6 डिग्री, बिलासपुर में 6 डिग्री, मंडी में 6.2 डिग्री, जुब्बड़हट्टी में 6.4 डिग्री, पांवटा साहिब में 9 डिग्री और नाहन में 10.3 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया.
मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान राज्य के ऊंचे इलाकों में बर्फबारी की संभावना व्यक्त की है. मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से 12 फरवरी को राज्य के पर्वतीय व उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में कुछ स्थानों पर वर्षा व हिमपात के आसार हैं. इसके बाद 16 फरवरी तक मौसम साफ रहेगा. राज्य के मैदानी भागों में भी मौसम शुष्क रहेगा.