हिमाचल विधानसभा में मानसून सत्र का पहला दिन ‘अटल जी’ के नाम रहा

आउटसोर्स कर्मचारियों को हिमाचल सरकार ने बड़ा झटका - Panchayat Times
फाइल फोटो

शिमला. गुरुवार से हिमाचल प्रदेश में विधानसभा का मानसून सत्र शुरू हो गया. मानसून सत्र के पहले दिन भारत रत्न एवं पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर सदन की ओर से शोक व्यक्त किया गया. उनके द्वारा किए गये कामों को भी याद किया गया. इसके बाद सदन कल तक के लिए स्थगित हो गई. सात दिन चलने वाले इस सत्र के लिए सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ने कमर कस ली है. अब शुक्रवार से मानसून सेशन के सुचारू रूप से चलने की उम्मीद है.

ये भी पढ़ें- तपोवन में खुले राष्ट्रीय ई-विधान अकादमी, विधानसभा अध्यक्ष की केंद्र से अपील

एक दिन पहले शिमला में दोनों प्रमुख दलों की विधायक दल की बैठक हुई, जिसमें विधानसभा के लिए रणनीति तैयार की गई. मुख्यमंत्री ने सभी को पूरी तैयारी के साथ सदन में आने के लिए कहा है. सत्तापक्ष पूरे सदन में एकजुट रहे, इसके लिए बैठक में दिशा-निर्देश दिए गए. विपक्ष पानी, बरसाती नुकसान से लेकर तबादलों और बागवानी प्रोजेक्ट जैसे मुद्दों से सरकार को घेरने की कोशिश कर सकता है. बता दें कि मुकेश अग्निहोत्री को अब हिमाचल विधानसभा में विपक्ष का नेता बना दिया गया है. अब देखना होगा कि इस कदम से हिमाचल की राजनीति किस करवट बैठेगी.