डबल मर्डर: गला घोट कर की गई मां बेटे की हत्या

डबल मर्डर: गला घोट कर की गई मां बेटे की हत्या-Panchayat Times
प्रतीक चित्र

हरियाणा. डबल मर्डर से शहर का राम नगर क्षेत्र दहल उठा. गुरुवार को देर रात यहां एक कपड़ा व्यापारी की पत्नी और उसके 4 साल के बेटे की खून से सनी लाश उनके घर पर ही मिली. घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई. दोहरे हत्याकांड की सूचना पाकर पुलिस के आलाधिकारी, डॉग स्क्वाड और फॉरेंसिक जांच की टीमें घटना स्थल पर पहुंची. हर पहलू पर बारीकी से जांच शुरू कर के मौके से कई सबूत इकट्ठा किए.

यहां मां बेटे की हत्या का समाचार सुनकर बड़ी संख्या में लोग मौके पर पहुंचे. पुलिस आधी रात के बाद तक कार्रवाई में जुटी रही और आवश्यक कार्रवाई करके शवों को पोस्टमार्टम के लिए शहर के नागरिक अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया. पुलिस मामले की जांच में जुटी है. मृतकों की पहचान निर्मल उर्फ बब्ली (55) तथा दिनेश (4) के रुप में हुई है. हादसा राम नगर के मकान नंबर 51/24 में हुआ. दोनों के शव घर की रसोई में खून से लथपथ पड़े मिले.

जानकारी के अनुसार जिस समय इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया उस समय निर्मल अपनी रसोई में रात का खाना बना रही थी. खाना बनाते बनाते ही उस पर किसी ने उस पर एक के बाद एक कई बार कर के उसे लहूलुहान कर दिया. बेरहम हत्यारे ने मौके पर मौजूद 4 साल के मासूम को भी नहीं छोड़ा और उसे भी मौत के घाट उतार दिया. मामले की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची. प्रारंभिक जांच में मृतका के सिर और गले पर जबकि दिनेश के गले पर चोट के निशान पुलिस को मिले हैं.

डबल मर्डर का कोई स्पष्ट कारण फिलहाल सामने नहीं आया. लेकिन, जानकारी मिलने के बाद सीन ऑफ क्राइम टीम और फिंगर प्रिंट टीम ने मौके का मुआयना करके हत्यारों की उंगलियों के निशान उठाने की कोशिश की. मर्डर का खुलासा देर रात तब हुआ जब निर्मल का पति देवेंद्र अपनी दुकान की उग्राही आदि करके टूर से वापस घर लौटा. पुलिस को दिए बयान में देवेंद्र ने बताया कि घर आकर उसने मेन गेट का दरवाजा खोला और घर के अंदर दाखिल हुआ. मकान की गैलरी से अंदर जाकर अपनी पत्नी का नाम लेकर आवाज लगाई और लड़के  दिनेश के नाम से आवाज लगाई लेकिन दोनों की आवाज नहीं आई.

इधर-उधर देखा तो रसोई में निर्मल उर्फ बब्ली और दिनेश खून से लथपथ हालत में जमीन पर गिरे पड़े थे. दोनों को हिला कर देखा तो वह दोनों मृत अवस्था में मिले. उसने बताया कि उसकी पत्नी के सिर पर चोटों के और गले पर घोटने के निशान थे. लड़के दिनेश के शरीर पर चोट का कोई निशान नहीं था केवल गले पर निशान थे. उसने कहा कि किसी रंजिश के कारण किसी ने उसकी पत्नी और बेटे की हत्या कर डाली है. उसने हत्यारों को ढूंढ कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है. सिटी थाना पुलिस ने देवेंद्र के बयान पर अज्ञात हत्यारों के खिलाफ भादंसं की धारा 302 के तहत मामला दर्ज करके जांच शुरू की है.

पति अपने कपड़े की दुकान की उग्राही पर गया हुआ था टूर पर

निर्मला का पति देवेंद्र कुमार (60) कपड़ा मार्केट अंबाला शहर में तौलिये और कंबल का व्यापार करता है. गुरुवार को थोक कपड़ा मार्केट बंद रहती है. इसलिए वह अपने ग्राहकों से उधार का पैसे लेने के लिए और आर्डर के मुताबिक कंबल देने के लिए शहर रेलवे स्टेशन से सुबह 9 बजे वाली ट्रेन (सहारनपुर से नगंल डैम) में सवार होकर आनंदपुर साहिब, मोरींडा, कुराली, नौगावा (पंजाब) गया था. अपना काम निपटा रात को वापस अंबाला शहर पहुंचा और सीधे पैदल चलते हुए अपनी दुकान पर जा पहुंचा. यहां उसने रसीद बुक, मोबाइल और करीब 15 हजार रुपए रखे. इसके बाद दुकान बंद करके वह प्रेम मंदिर वाली गली से शांति देवी धर्मशाला के रास्ते से पैदल ही घर के लिए निकला और वहां का मंजर देखकर सकते में आ गया.

कालचक्र को नहीं मंजूर था कि परिवार खुश रहे

देवेंद्र के पास तीन लड़कियां व एक लड़का है. तीनों लड़कियां शादी शुदा है. बीमारी के कारण उसके 25 वर्षीय बेटे दिनेश की 4 साल पहले मौत हो गई थी. उस सदमे के कारण निर्मला मानसिक तौर से परेशान रहने लग गई थी. बाद में आपसी और लड़कियों की सहमति से किसी के तीन महीने के लड़के को गोद ले लिया था. जिसका नाम भी उन्होंने अपने मृत बेटे के नाम पर दिनेश ही रखा था. तीनों सदस्य घर मे खुशी से रहते थे. लेकिन, कालचक्र को उनकी यह खुशी मंजूर नहीं थी. पहले अपना युवा बेटा भरी जवानी में खो दिया और अब यह हादसा हो गया.

परिवार का नजदीक हो सकता है हत्यारा

चर्चाओं के अनुसार दोहरे हत्याकांड को अंजाम देने वाला कोई व्यक्ति परिवार का बहुत नजदीकी भी हो सकता है. जिस प्रकार से मासूम की भी हत्या की गई. उससे यह संदेह हो रहा है कि हत्यारा कोई जान पहचान का रहा होगा. जिसे मासूम दिनेश भी जानता होगा. तभी उसे भी ठिकाने लगा दिया गया. पुलिस कई कोणों से हत्यारों को ढूंढने में लगी है.
टीमें की गई हैं गठित.

अंबाला शहर के डीएसपी अजीत सिंह ने बताया कि इस डबल मर्डर की गुत्थी को सुलझाने के लिए टीमें बनाई गई हैं. जिसमें हमें जल्द ही कामयाबी मिलेगी. प्राथमिक तौर पर इस डबल मर्डर के पीछे कोई लूट या डकैती जैसी कोई वारदात होना नहीं पाई गई है, लेकिन पुलिस इस मामले में हर पहलू पर काम कर रही है ताकि कानून के हाथ हत्यारों की गर्दन तक जल्द पहुंच सके.