ट्रिपल तलाक से सशक्त होंगी महिलाएं : मिसफिका

पाकुड़. भाजपा की प्रदेश प्रवक्ता मिसफिका हसन ने कहा है कि ट्रिपल तलाक बिल के पास होने से मुस्लिम महिलाओं के लैंगिक समानता व सशक्तीकरण को बल मिलेगा. ये बातें उन्होंने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में कही. इसके साथ ही कहा कि इस बिल के कानून बन जाने की वजह से अब मुस्लिम महिलाएं अपने अधिकारों को लेकर पहले से कहीं ज्यादा मुखर होंगी.

मिसफिका हसन ने कहा कि यह बिल मुस्लिम महिलाओं को सम्मान व आत्मनिर्भरता प्रदान करेगा. उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्य की बात है कि सर्वोच्च न्यायालय द्वारा इस परंपरा को गलत ठहराए जाने के बाद भी तलाक के 229 मामले सामने आए. केन्द्र सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के आलोक में बगैर किसी हिचकिचाहट के बिल लाकर इसे समाप्त करने की दिशा में न सिर्फ ऐतिहासिक पहल की बल्कि अभूतपूर्व सफलता भी प्राप्त की है. आज मोदी सरकार द्वारा ट्रिपल तलाक बिल को लेकर इस कुप्रथा की शिकार लाखों मुस्लिम महिलाओं के लब संभवतः लंबे अरसे बाद पहली बार मुस्कुराए हैं. उनकी आंखों में पहली बार इंसाफ पाने की चमक दिखाई दी है.

उन्होंने इस मुद्दे पर वोट बैंक की राजनीति करने वाले दलों व नेताओं को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि ऐसे लोगों को खुद को नेता नहीं बल्कि एक पिता अथवा भाई के नाते सोचना और पहल करनी चाहिए थी, न कि राजनीति. मिसफिका हसन ने कहा कि भाजपा प्रारंभ से ही इस सामाजिक कुप्रथा की समाप्ति के लिए बगैर वोट बैंक की राजनीति किए प्रयासरत थी, जिसमें सफल रही. यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सक्षम व समर्थ नेतृत्व की ऐतिहासिक जीत है.