रामगढ़ समेत चार जिलों का खुख्यात अपराधी रियाज अंसारी गिरफ्तार

रामगढ़ समेत चार जिलों का खुख्यात अपराधी रियाज अंसारी गिरफ्तार-Panchayat Times

रामगढ. झारखंड राज्य के चार जिलों में आतंक का पर्याय रहे कुख्यात शूटर रियाज अंसारी को रामगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. रियाज अंसारी, सुशील श्रीवास्तव गिरोह का मुख्य शूटर है. इसके दम पर श्रीवास्तव गिरोह का आतंक रांची, रामगढ़, हजारीबाग और चतरा जिले में फैला हुआ है.

रामगढ़ समेत चार जिलों का खुख्यात अपराधी रियाज अंसारी गिरफ्तार-Panchayat Times

इन चार जिलों के बिल्डर, ट्रांसपोर्टर, व्यवसायी, कांट्रेक्टर इसके नाम से थर्राते थे. इन चार जिलों में ऐसा कोई भी ठेकेदार और व्यवसाई नहीं होगा, जिसे रियाज ने जान से मारने की धमकी नहीं दी थी. सोमवार रात रामगढ़ एसपी प्रभात कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम ने रियाज अंसारी को उसके गांव रोचाप से गिरफ्तार किया. उसके पास से पुलिस ने 9 एमएम की दो पिस्तौल और 10 जिंदा कारतूस बरामद किया है. रियाज के दोनों मोबाइल भी पुलिस ने जब्त कर लिया है.

इस मामले की जानकारी मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में एसपी प्रभात कुमार ने दी. एसपी ने बताया कि रियाज अंसारी अपने अंडर में कई शूटरों को रखता था. यह उन सभी के साथ प्लांट में जाकर गोलीबारी, आगजनी जैसी घटनाओं को अंजाम देता था. जिससे डरकर व्यवसाई, ठेकेदार, बिल्डर उसे लेवी की रकम देते थे. यह हर किसी से रंगदारी वसूल करता था. इसी रंगदारी की रकम से सुशील श्रीवास्तव गिरोह लगातार आतंक मचा रहा था. इसकी गिरफ्तारी के बाद इन चार जिलों में आपराधिक गतिविधियों में भारी कमी आएगी.

एसपी ने बताया कि दिसंबर 2018 में पतरातू थाना क्षेत्र में रियाज अंसारी ने अपने साथियों के साथ मिलकर पतरातू थाना क्षेत्र के डाडीडीह अंबाटांड स्थित झारखंड कंस्ट्रक्शन एवं स्टील नामक फैक्ट्री में धावा बोला था. यहां उसने मारपीट, आगजनी और गोलीबारी भी की थी. इस मामले में उसका एक साथी मिंकु खान पुलिस के रडार में था. पुलिस लगातार उसके घर पर छापेमारी कर रही थी. इस छापेमारी की दबिश से परेशान मिंकु खान ने रामगढ़ कोर्ट में चार दिन पहले ही सरेंडर किया था.

उसके सरेंडर करने की सूचना जब रियाज अंसारी को मिली तो वह कोलकाता से रामगढ़ पहुंचा. वह रामगढ़ कोर्ट में भी मिंकु खान से मिलना चाह रहा था. इस दौरान रियाज के साथ सुशील श्रीवास्तव गिरोह के दो अन्य सदस्य भी थे. पुलिस को जैसे ही सूचना मिली पुलिस ने वहां पर छापेमारी की लेकिन रियाज अंसारी वहां भीड़ का फायदा उठाकर भाग निकलने में सफल रहा. पुलिस लगातार उसके पीछे थी और उसकी गिरफ्तारी के लिए पूरा जिला सील कर दिया था. इस दबिश के कारण रियाज अंसारी अपने पैतृक गांव रोचाप में ही एक रात छुपने का प्लान बनाया था. पुलिस ने इसी मौके का फायदा उठाया और रोचाप में ही एक व्यक्ति के घर से रियाज को गिरफ्तार कर लिया. इस दौरान उसके ड्राइवर को भी हिरासत में लिया गया है.