एक नई पहल : बल्लभगढ़ में महिलाएं चलाएंगी ऑटो

बल्लभगढ़ की सड़कों पर महिला ऑटो ड्राईवर ऑटो चलाती नजर आएंगी

फरीदाबाद. बल्लभगढ़ में ऑटो से आने-जाने वाली महिलाओं के लिए अच्छी खबर है. जल्द ही बल्लभगढ़ की सड़कों पर महिला ऑटो ड्राईवर ऑटो चलाती नजर आएंगी. एसडीएम राजेश कुमार ने इस मामले में पहल करते हुए यह निर्णय लिया है कि इन महिला ऑटो चालकों को ऑटो दिलवाने के साथ-साथ उन्हें ऑटो चलाने का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा. इसके साथ ही महिला ऑटो ड्राईवरों की सुरक्षा को लेकर आवश्यक इंतजाम भी किए जाएंगे. इसके लिए समाजसेवी संस्थाएं जो कि महिलाओं को रोजगार के क्षेत्र में या उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए कार्य करती हैं, उनसे भी संपर्क किया जा रहा है.

देखा जा रहा है कि बल्लभगढ़ शहर में आपराधिक घटनाएं बढ़ने लगी है. दिन के समय भी यहां अपराधी वारदातों को अंजाम देकर चले जाते हैं. कई महिलाएं बल्लभगढ़ में स्वयं को असुरक्षित महसूस करती हैं. वहीं ऑटो चालकों के व्यवहार से तो महिलाएं काफी परेशान रहती हैं. बल्लभगढ़ में महिला ऑटो ड्राईवर यदि सड़कों पर ऑटो दौड़ाएंगी तो ऑटो में सफर करने वाली महिलाओं को काफी राहत मिलेगी.

यदि कोई महिला ऑटो चलाना चाहती हैं तो उसे प्रशासन द्वारा ऑटो ड्राईविंग का प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा. इतना ही नहीं नए ऑटो के लिए बैंक से लोन आदि दिलवाने में भी प्रशासन के अधिकारी सहयोग करेंगे. इसके अलावा महिला ऑटो ड्राईवर की सुरक्षा के लिए भी ऑटो में व्यापक इंतजाम किए जाएंगे. इसके लिए समाजसेवी संस्थाओं से सहयोग लिया जा रहा है कि वे अधिक से अधिक संख्या में ऐसी महिलाएं तैयार करें जो कि इस कार्य को कर सकें.

ये भी पढ़ें- हरियाणा में नगर निगमों के चुनावी नतीजे 19 दिसम्बर को आएंगे

यहां कि कुछ महिलाओं का कहना है कि पुरुष ऑटो चालक न केवल महिलाओं को ऑटो में शीशे से घूरते रहते हैं बल्कि कभी-कभी अवांछनिय हरकतें भी करते हैं. यदि उनका विरोध किया जाए तो वे उन पर हावी हो जाते हैं. इसके अलावा तेज आवाज में गाना चलाया जाता है वो अलग. महिलाओं का कहना है कि उनके पास आवागमन का कोई और विकल्प न होने का फायदा ऑटो चालक उठाते हैं. जब ऑटो की चालक सीट पर कोई महिला होगी तो इन महिला यात्रियों का आत्मविश्वास बढ़ेगा और वे स्वयं को सुरक्षित महसूस करेंगी.

बल्लभगढ़ के एसडीएम राजेश कुमार का कहना है कि हमने तीन माह के अंदर 50 महिला ऑटो ड्राईवर तैयार करने हैं. इसके लिए मैं और मेरी टीम उनकी पूरी मदद करेंगे. हमारा मुख्य उद्देश्य महिलाओं को सुरक्षित आवागमन की सुविधा मुहैया कराना है और मुझे लगता है कि यदि महिला ऑटो ड्राईवर ऑटो रिक्शा चलाएंगी तो इससे महिलाओं और युवतियों को काफी राहत मिलेगी. इसके बाद महिलाएं किसी भी समय ऑटो में सफर कर सकेंगी. दिल्ली सहित कई अन्य जिलों में महिला ऑटो चला रही हैं. बल्लभगढ़ में पहली बार ऐसी शुरुआत की जाएगी. हाईवे पर रोशनी होने के कारण महिला ऑटो ड्राईवरों को सुरक्षा को लेकर चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है.