हिमाचल विधानसभा सत्र के बाद आयोजित किये जायेंगे स्वर्ण जयंती ग्राम स्वराज सम्मेलन, मनरेगा के तहत होने वाले कार्य में असीमित संभावनाएं : जयराम ठाकुर

हिमाचल विधानसभा सत्र के बाद आयोजित किये जायेंगे स्वर्ण जयंती ग्राम स्वराज सम्मेलन, मनरेगा के तहत होने वाले कार्य में असीमित संभावनाएं : जयराम ठाकुर - Panchayat TImes
Himachal CM Addressing Panchayat representatives

शिमला. प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने 21 फरवरी को मंडी में आयोजित बालीचैकी क्षेत्र के नवनिर्वाचित जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्यों, ग्राम पंचायत प्रधानों व उप-प्रधानों तथा वार्ड सदस्यों के साथ आयोजित संवाद कार्यक्रम में कहा कि विधानसभा सत्र के बाद स्वर्ण जयंती ग्राम स्वराज सम्मेलन आयोजित किए जायेंगे. इस दौरान उन्होंने नवनिर्वाचित सदस्यों को बधाई दी.

मुख्यमंत्री ने कहा सभी से विकास की राह पर वैचारिक दृष्टिकोण से उपर उठकर एक-दूसरे के सहयोगी बनकर कार्य करने को कहा. उन्होंने पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों को दिए जाने वाले प्रशिक्षण को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि वे इस प्रशिक्षण के प्रति संवेदनशील व गंभीर रहें ताकि वे अपने कर्तव्य व अधिकारों का सजग होकर अपने दायित्व का भली-भांति निर्वहन कर पाएं.

विकास के लिए विभिन्न माध्यमों से बजट सीधे पंचायतों में आता है

जय राम ठाकुर ने कहा कि विकास के लिए विभिन्न माध्यमों से बजट सीधे पंचायतों में आता है. इस सूरत में पंचायत प्रतिनिधियों की जिम्मेवारी और भी बढ़ जाती है. उन्होंने कहा कि पंचायत प्रतिनिधि पारदर्शिता, निष्पक्षता और इमानदारी से विकास कार्यो को अंजाम दें.

मनरेगा के तहत किए जाने वाले कार्य में असीमित संभावनाएं

उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत किए जाने वाले कार्य में असीमित संभावनाएं हैं. इसलिए पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधि इस दिशा में नई पहल करें तथा सरकार की विभिन्न योजनाओं को व्यावहारिक रूप देने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएं.