विधानसभा चुनाव: मांडू विधानसभा सीट पर टिकट के लिए मारामारी

विधानसभा चुनाव: मांडू विधानसभा सीट पर टिकट के लिए मारामारी

मांडू. झारखंड में विधानसभा चुनाव की गहमागहमी शुरू हो गई है. सभी दल अपनी चुनावी मशीनरी को चुस्त-दुरुस्त करने में जुट गए हैं टिकट के दावेदारी भी सक्रिय हो गए हैं. चुनाव कवरेज के पहले चरण में पंचायत टाइम्स ने राज्य विधानसभा की एक-एक सीट पर टिकट के दावेदारों के बारे में जानकारी देने के लिए एक विशेष श्रृंखला शुरू किया है. यह सिलसिला चुनाव कार्यक्रम की घोषणा तक चलेगा.

मांडू में हर दल में है एक से अधिक दावेदार है, हजारीबाग जिले के अंतर्गत आने वाली मांडू विधानसभा सीट पर टिकट के लिए हर दल में एक से अधिक दावेदार है. लेकिन भाजपा के बढ़ते जनाधार से झारखंड की अन्य पार्टियों तिलमिला गई है. यह सीट कौन निकाल सकता है इस पर सभी दल मंथन करने में जुटे हुए हैं. वैसे तो तीन दशक से इस सीट पर झारखंड मुक्ति मोर्चा का कब्जा रहा है.

यहां के वर्तमान विधायक जेपी भाई पटेल ने झामुमो को अलविदा कर दिया है. इस कारण इस क्षेत्र की स्थिति अब बदल चुकी है, झामुमो इस सीट पर पुनः काबिज रहने की जुगत में है. इस बार यहां से झामुमो का टिकट पाने के तीन दावेदार तैयार हैं. इनमें फागु बेसरा, राजकुमार महतो और राम प्रकाश भाई पटेल शामिल है. अगर जातीय समीकरण के तहत झामुमो में टिकट का बंटवारा होता है, तो इसमें राजकुमार महतो भारी पड़ सकते हैं. लेकिन फागु बेसरा को लोगों का समर्थन प्राप्त है, इन्हें भी कम नहीं आंका जा सकता वहीं झामुमो के बागी नेता और मांडू विधानसभा से विधायक जेपी पटेल भी विधानसभा क्षेत्र के दौरे पर हैं और लोगों से एक और मौका मांग रहे हैं. वह किस दल से चुनाव मैदान में उतरेंगे या अभी तक तय नहीं है. कयास लगाया जा रहा है, कि वह भाजपा के टिकट से विधानसभा चुनाव लड़ेंगे. लेकिन अभी तक उन्होंने भाजपा की सदस्यता ग्रहण नहीं की है.

वहीं 2014 में मांडू विधानसभा सीट पर दूसरे स्थान पर रहने वाले भाजपा नेता कुमार महेश सिंह भी दोबारा से टिकेट की जुगत में है. क्योंकि पिछले चुनाव में उन्होंने 71487 वोट प्राप्त किया था. चुनाव हारने के बाद भी वह लगातार क्षेत्र में काम करते रहे है. लोग उन्हें भावी विधायक भी बताते हैं, ऐसी स्थिति में जेपी पटेल अगर विकल्प के रूप में चुनाव लड़ते हैं, तो उन्हें कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है. वैसे तो जेपी पटेल के साथ रहने वाले भी इनसे मुंह मोड़ने लगे हैं, वह जिस क्षेत्र में जा रहे हैं उनकी कार्यकर्ताओ से मुलाकात नहीं हो रही है. गरगाली के कुछ लोगों का कहना है, कि जेपी भाई पटेल के पास करीब 70000 मतदाताओं का मजबूत वोट बैंक है. जिससे उनकी जीत सुनिश्चित हो सकती है.

आशु के जुझारू और मांडू विधानसभा के प्रभारी तिवारी महतो भी इस बार मौका नहीं झुकना चाहते हैं. उनका कहना है कि उन्होंने 19 सालों से क्षेत्र के लोगों की सेवा की है. इस बार लोग उन्हें जरूर मौका देंगे. वह कहते हैं कि पूर्व मंत्री मथुरा महतो आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो और पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा के आश्वासन पर वह दो बार क्षेत्र के लोगों से माफी मांग कर चुनाव मैदान में नहीं उतरे लेकिन इस बार वह किसी की भी नहीं सुनेंगे इधर झारखंड विकास मोर्चा से भी विधानसभा चुनाव में चंद्रनाथ भाई पटेल की दावेदारी के भी चर्चे है. पिछले चुनाव में भी उन्होंने जेपी भाई पटेल को कड़ी टक्कर दी थी. उन्होंने 24622 वोट मिले थे और वह तीसरे स्थान पर रहे थे.

2014 का परिणाम कुछ इस प्रकार है-
जयप्रकाश भाई पटेल                   झामुमो  78499,
कुमार महेश सिंह                      भाजपा  71487,
चंद्रनाथ भाई                          झाविमो 24622,
खीरू महतो                           जेडीयू  17436