झारखंड में पारा टीचरों ने मांगी भीख, सीएम को भेजेंगे पैसे

पारा शिक्षकों को मिला सांसद कड़िया मुंडा का साथ-Panchayat Times
फाइल फोटो

दुमका. एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के बैनर तले मंत्री डॉ. लुइस मरांडी के आवास पर मंगलवार को 10वें दिन भी धरना जारी रहा. इसमें सभी प्रखंड के शिक्षकों ने भाग लिया. इस दौरान पारा शिक्षकों ने भिक्षाटन भी किया. हथियापाथर चौक पर स्थित दुकानों में घूम-घूमकर पारा शिक्षकों ने भीख मांगा. भिक्षाटन में कुल 965 रुपये प्राप्त हुए. इसे मुख्यमंत्री राहत कोष भेजा जायेगा. आंदोलन मंत्री के आवास पर रात दिन जारी है. ठंड बढ़ने से कुछ पारा शिक्षकों की तबीयत भी खराब हो गई तो उन्हें घर भेज दिया गया. कार्यक्रम की अध्यक्षता संयोजक हरेकृष्ण सिंह ने की.

इस मौके पर झारखंड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के महामंत्री रामाधार शर्मा ने पारा शिक्षकों के आंदोलन को समर्थन देते हुए कहा कि पारा शिक्षकों की मांग जायज है. अविलंब सरकार को इनकी मांगों पर विचार करना चाहिए, लेकिन ये सरकार तानाशाह है. इस सरकार से संवैधानिकता की अपेक्षा नहीं की जा सकती है.

हथियापाथर चौक पर स्थित दुकानों में घूम-घूमकर पारा शिक्षकों ने भीख मांगा

धरना में मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र राय, रविन्द्र मिर्धा, मुकेश राय, राजीव सोरेन, सुखदेव ठाकुर, सुशांत मुखर्जी, अनंत लाल राय, अनूप कुमार, गुलाब राय, गुड़िया कुमारी, फ्लोरेंस हांसदा, सरला बेसरा, कल्पना कुमारी, मनोज कुमार साह, अनोज शर्मा, अशोक मंडल, राजीव पंजियारा, ममता देवी, सबादी किस्कु आदि शिक्षक उपस्थित थे.

राजभवन पर धरना 20 को, 8 और 9 जनवरी को चक्का जाम

झारखंड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के महामंत्री रामाधार शर्मा ने पारा शिक्षकों की मांगों को लेकर महासंघ 20 दिसंबर को राजभवन के समक्ष एकदिवसीय धरना देगी. इसके अलावा 8 और 9 जनवरी को देश के अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ द्वारा चक्का जाम भी किया जायेगा.