बिलासपुर में लोगों को जल्द मिलेगा पानी की समस्या से निजात

बिलासपुर में लोगों को जल्द मिलेगा पानी की समस्या से निजात-Panchayat Times
प्रतीक चित्र

बिलासपुर. बिलासपुर जिले की झंडूता के लोगों की पेयजल समस्या से निजात दिलाने के लिए आने वाले समय में लगभग 50 से 60 करोड़ रुपए व्यय किए जाएंगे. इससे ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिकता के आधार पर पेयजल और सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाई जा सके.

सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य, बागवानी तथा सैनिक कल्याण मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने रविवार को झंडुता के बरड मन्नण में 165.96 लाख रुपए की लागत से निर्मित उठाऊ पेयजल योजना के उद्घाटन के बाद कहा कि उठाऊ पेयजल बरड मन्नण से 10 बस्तियों के दो हजार 9 सौ 31 व्यक्ति लाभान्वित होंगे.

लगभग 42 करोड़ रुपए की एक नई योजना जेयजल के लिए झंडूता विधानसभा क्षेत्र के लिए स्वीकृत की गई है. यह योजना के तहत हर घर में नल और पूरे सप्ताह प्रतिदिन सुचारू रूप से जलापूर्ति सुनिश्चित बनाई जाएगी. उन्होंने कहा कि अल्पावधि में ही प्रदेश सरकार ने केन्द्र सरकार करोड़ों रुपए की योजनाएं स्वीकृत करवाने में सफल हुई है.

हिमाचल के कई शहरों में पारा शून्य से नीचे

उन्होंने कहा कि प्रदेश के लिए लगभग 4751 करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट पेयजल के लिए भारत सरकार को भेजा गया है.  इस प्रोजेक्ट के तहत प्रथम चरण में लगभग आठ सौ करोड़ रुपए व्यय किए जाएंगे. इसके तहत सुजानपुर, घुमारवीं, धर्मपुर और सिराज विधान सभा क्षेत्रों को शामिल किया जाएगा, ताकि पीने और सिंचाई की व्यवस्था को सुचारू रूप से लोगों को पहुंचाकर उन्हें लाभान्वित किया जा सके. दस करोड़ रुपए झंडूता विधानसभा क्षेत्र में व्यय किए जाएंगे. इसमें पुरानी पेयजल पाइपों को भी बदला जाएगा. विधानसभा क्षेत्र का कोई भी गांव पेयजल, सिंचाई सुविधा से वंचित नहीं होगा.