सिमरिया विधानसभा : टिकट के दावेदार हुए सक्रिय

सिमरिया विधानसभा : टिकट के दावेदार हुए सक्रिय

सिमरिया. झारखंड में विधानसभा चुनाव की गहमागहमी शुरू हो गई है. सभी दल अपने चुनावी मशीनरी को चुस्त-दुरुस्त करने में जुट गए हैं. टिकट के दावेदार भी सक्रिय हो गए हैं. चुनाव कवरेज के पहले चरण में पंचायत टाइम्स ने राज्य विधानसभा की एक-एक सीट पर टिकट के दावेदार-दावेदारों के बारे में जानकारी देने के लिए विशेष श्रृंखला शुरू की है. यह सिलसिला चुनाव कार्यक्रम की घोषणा तक चलेगा.

विधानसभा चुनाव की घोषणा नहीं हुई है, पर उम्मीदवार पिछले कई महीनों से क्षेत्र में भ्रमण कर सक्रिय बने हुए हैं और अपनी-अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं. सभी दलों के उम्मीदवार टिकट के लिए ताल ठोक रहे हैं करीब 15 दिन इटखोरी में भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने एक जनसभा को संबोधित किया था. उस सभा में भाजपा के संभावित उम्मीदवार ने अपने नाम के बड़े-बड़े फ्लेक्स और पोस्टर लगाए थे. उम्मीदवारों ने कार्यक्रम में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था. कई उम्मीदवारो ने बाइक रैली में बड़ी संख्या में भीड़ भी जुटाई थी. सिमरिया में भाजपा के टिकट के लिए उम्मीदवारों की लंबी कतार लगी हुई है.

तबरेज हत्याकांड : सभी आरोपियों पर चलेगा हत्या का मुकदमा

2014 में झाविमो से चुनाव जीतकर भाजपा में शामिल हुए वर्तमान विधायक गणेशगंज ने विकास किया पर क्षेत्र से दूर रहे. उन्होंने किसी कार्यक्रम में हिस्सा भी नहीं लिया इसलिए लोग उनसे नाराज हैं. पिछले चुनाव में दूसरे स्थान पर रहे सुजीत भारती, पूर्व विधायक योगेंद्र नाथ बैठा, उज्जवल दास, किशुन दास आदि मजबूत दावेदार बताए जा रहे हैं. बिहार के पूर्व मंत्री ईश्वरी राम पासवान की पुत्री सीमा पासवान उर्फ जूही अनामिका भी हाल ही में भाजपा में शामिल हुई है, और टिकट की दावेदार बताई जाती है. इसके अलावा राजद के मनोहर चंद्र भाकपा के विनोद बिहारी महतो झाविमो के रामदेव सिंह भोक्ता बाल गोविंद राम, छट्ठू सिंह भोगता और जीतन राम भी दावेदारों की सूची में शामिल है. अब देखना दिलचस्प होगा कि टिकट किसे मिलता है, और तब चुनाव का रंग गहरा होगा.