छत्तीसगढ़ में पीठासीन अधिकारी गिरफ्तार, पार्टी विशेष के लिए वोट करवा रहा था

मतदाताओं को वोट कराने के आरोप में पुलिस ने एक पीठासीन अधिकारी को गिरफ्तार

रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा के लिए दूसरे चरण में मतदान के दौरान पार्टी विशेष के लिए मतदाताओं को वोट कराने के आरोप में पुलिस ने एक पीठासीन अधिकारी को गिरफ्तार किया है. इस मामले को लेकर चुनाव आयोग जांच में जुट गया है.

रायगढ़ के मरवाही में धनौली मतदान केन्द्र संख्या तीन में सुबह से ही मतदाताओं की भीड़ मताधिकार का प्रयोग करने पहुंच रही थी. यहां पर तैनात पीठासीन अधिकारी कमल तिवारी ने मतदाताओं को पार्टी विशेष के लिए मतदान के लिए दबाव बनाया जाने लगा. जिसको लेकर मतदाताओं ने विरोध किया. मामले की जानकारी मिलते ही आम आदमी पार्टी ने जानकारी करते हुए आरोपों को लेकर शिकायत की. शिकायत के आधार पर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

ये भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण का मतदान शुरू, 72 सीटों पर 1079 प्रत्याशी

पार्टी विशेष के लिए मतदान कराने के आरोप में पीठासीन अधिकारी गिरफ्तार
पीठासीन अधिकारी कमल तिवारी

सूत्रों की मानें तो पुलिस ने शुरुआती जांच में आरोप सही पाया, जिसके आधार पर उनकी गिरफ्तारी की गई. मरवाही थाना पुलिस ने बताया कि आरोप की जांच की जा रही है. जिसके आधार पर पीठासीन अधिकारी के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी. वहींस मामले को लेकर चुनाव आयोग ने भी जांच शुरू कर दी है.

उल्लेखनीय है कि, पीठासीन अधिकारी कमल तिवारी पर भाजपा के पक्ष में मतदाताओं को वोट डालने के लिए धमकाया जा रहा था. जिस पर आपत्ती जताते हुए आप पार्टी ने शिकायत की. जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया.