रामगढ़: छठ घाट के निर्माण में हो रही अनियमितता के चलते 30 घंटे से अनशन पर बैठे ग्रामीणों को पुलिस ने भगाया

रामगढ़: छठ घाट के निर्माण में हो रही अनियमितता के चलते 30 घंटे से अनशन पर बैठे ग्रामीणों को पुलिस ने भगाया - Panchayat Times

रामगढ़. शहर के सुभाष चौक पर 30 घंटे से अनशन पर बैठे ग्रामीणों को पुलिस ने खदेड़ दिया. बुधवार को इंस्पेक्टर विद्या शंकर ने अनशनकारियों को यह कह कर उठने पर मजबूर कर दिया कि वर्तमान कोरोना काल में 2 गज शारीरिक दूरी का उल्लंघन हो रहा है. इसके अलावा जिस तरीके से अनशनकारी बैठे थे, उसने कोरोना के संक्रमण का खतरा है.

अनशनकारियों ने पुलिस की इस दलील का विरोध किया, तो पुलिस ने भी हल्के बल का प्रयोग किया. अनशन पर बैठी सोनी प्रिया ने बताया कि अरगड्डा नीचे थोड़ा में 54 लाख की लागत से छठ घाट का निर्माण किया जा रहा है. लेकिन उस कार्य में भारी अनियमितता बरती जा रही है. सबसे बड़ी बात जिसके लिए वह घाट बन रहा है, उसका लाभ श्रद्धालुओं को मिलेगा ही नहीं.

नदी से कई फुट ऊपर घाट बनाया जा रहा है, जहां पानी रहता ही नहीं है. ऐसी स्थिति में घाट का औचित्य भी नहीं रहेगा. इसे लेकर यह तीसरी बार आंदोलन हो रहा है. इससे पहले निर्माण स्थल और डीसी कार्यालय के समक्ष भी लोगों ने प्रदर्शन किया था. जिसके बाद उन्हें जांच के बाद ही काम होने का आश्वासन मिला था. लेकिन प्रदर्शन खत्म होने के दूसरे दिन ही वहां पर काम भी शुरू हो गया.