पुलिस की बर्बरता से रोने लगा एक बुजुर्ग पिता…

सोलन. पुलिस लोगों की सुरक्षा और सहायता के लिए होती है. पर जब वो ही सताने लगे तो इसांन क्या करे? कहां जाए? सोलन में 60 साल के बुढ़े इंसान के रोने की वजह भी पुलिस ही है. इनकी बेटी लापता हो गई है. उसकी पुलिस को रिपोर्ट की गई. वहीं, पुलिस बेटी का पता लगाने की बजाए पिता को ही प्रताड़ित करने लगी. जिसके बाद सबके सामने एक मजबूर बाप रोने लगा. उसने सोलन पुलिस अधिक्षक मोहित चावला से उक्त पुलिस कर्मी की शिकायत की. जिसके बाद पुलिस ने जांच का जिम्मा दूसरे एएसपी को दे दी है.

शिकायत कर्ता ने रोते बिलखते हुए पुलिस कर्मी पर कई संगीन आरोप लगाए. उन्होंने बताया कि जिस दिन से रिपोर्ट दर्ज करवाई गई है पुलिस जांच अधिकारी उन्हें और उनके परिवार को मानसिक रूप से परेशान कर रहे हैं. यहां तक कि उनकी बेटियों को उनके सुसराल में भी फोन पर परेशान किया जा रहा है. उन्हें भी मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा है. उनसे जांच की एवज में अप्रत्यक्ष तौर पर रिश्वत भी मांगी गई है. जिसकी वजह से वह पुलिस में शिकायत कर पछता रहे हैं.

लड़की के पिता ने कहा कि एक तरफ उनकी बेटी लापता है दूसरी ओर लड़की को ढूंढने की बजाए उनके परिवार से ही आरोपियों की तरह पूछताछ की जा रही है. उन्होंने कहा कि जांच के नाम पर पुलिस कर्मी उनसे अप्रत्यक्ष तौर पर रिश्वत लेने का प्रयास कर रहे हैं जो सरासर अन्याय है. उन्होंने रोष प्रकट करते हुए कहा कि शायद वह गरीब हैं इसलिए उन्हें न्याय नहीं मिल रहा है. जिला पुलिस अधीक्षक मोहित चावला ने फिलहाल पिता की शिकायत पर पुलिस जांच अधिकारी को बदल दिया है. शिकायत की जांच का जिम्मा एएसपी को सौंप दिया गया है.