झारखंड: मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा, मुख्यमंत्री गृह जबकी उरांव संभालेंगे वित्त मंत्रालय

रांची. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुधवार को मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा कर दिया है. अधिसूचना जारी कर उन्होंने जगरनाथ महतो को शिक्षा मंत्री बनाया है. महतो 10वीं तक पढ़े हैं. कैबिनेट के सबसे शिक्षित और धनी मंत्री रामेश्वर उरांव को वित्त एवं वाणिज्य विभाग कामंत्री बनाया गया है.

वहीं, बन्ना गुप्ता को स्वास्थ्य मंत्री बनाया गया गया है. मंत्रिमंडल की एक मात्र महिला जोबा मांझी चौथी बार मंत्री बनी हैं, उनको महिला एवं बाल विकास विभाग का मंत्री बनाया गया है.

झारखंड: मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा, मुख्यमंत्री गृह जबकि उरांव संभालेंगे वित्त मंत्रालय - Panchayat Times

मंत्रियों को मिला ये विभाग

हेमंत सोरेन- कार्मिक एवं प्रशासनिक सुधार तथा राजभाषा, गृह (कारा सहित), मंत्रिमंडल सचिवालय एवं समन्वय विभाग समेत वह सारे विभाग जो अन्य मंत्रियों को आवंटित नहीं है.

रामेश्वर उरांव- वित्त मंत्री

आलमगीर आलम- ग्रामीण विकास एवं संसदीय कार्य मंत्री

सत्यानंद भोक्ता- श्रम मंत्री

चंपई सोरेन- परिवहन मंत्री

हाजी हुसैन अंसारी- अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री

झारखंड: मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा, मुख्यमंत्री गृह जबकि उरांव संभालेंगे वित्त मंत्रालय - Panchayat Times

जगरनाथ महतो- शिक्षा मंत्री

जोबा मांझी- महिला बाल विकास एवं समाज कल्याण मंत्री

मिथिलेश ठाकुर- पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री

बन्ना गुप्ता- स्वास्थ्य मंत्री

बादल पत्रलेख- कृषि एवं पशुपालन मंत्री

मंगलवार को हुआ था सोरेन कैबिनेट का विस्तार

हेमंत साेरेन सरकार का गठन 29 दिसंबर 2019 को हुआ था. सीएम सोरेन के साथ रामेश्वर उरांव, आलमगीर आलम और सत्यानंद भोक्ता ने मंत्री पद की शपथ ली थी. उनके शपथ ग्रहण के 30 दिन बाद मंगलवार को 7 नए मंत्रियों ने शपथ ली.

इनमें झामुमो कोटे से चंपई सोरेन, हाजी हुसैन अंसारी, जगरनाथ महतो, जोबा मांझी, मिथिलेश ठाकुर और कांग्रेस कोटे से बन्ना गुप्ता, बादल पत्रलेख शामिल हैं.

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने सबको बारी-बारी से मंत्री पदकी शपथ दिलाई. हाजी हुसैन अंसारी ने खुदा के नाम पर और शेष छह मंत्रियों ने ईश्वर के नाम पर शपथ ली थी.

झामुमो के 5, कांग्रेस के 4 और राजद का 1 मंत्री

हेमंत सोरेन कैबिनेट में झारखंड मुक्ति मोर्चा के 5 विधायकों जबकि कांग्रेस के 4 और राजद के एकमात्र विधायक को मंत्री बनाया गया है. झामुमो, कांग्रेस और राजद ने गठबंधन करके झारखंड विधानसभा की 81 सीटों परचुनाव लड़ाथा. इसमें झामुमो ने 30, कांग्रेस ने 16 और राजद ने 1 सीट पर जीत दर्ज की थी.