प्रियंका सुंदरनगर में खराब मौसम के कारण रैली में नहीं पहुंच पाई

प्रियंका सुंदरनगर में खराब मौसम के कारण रैली में नहीं पहुंच पाई-Panchayat Times
साभार इंटरनेट

मंडी. कांग्रेस की स्टार प्रचारक राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा खराब मौसम की वजह से सुंदरनगर में आयोजित कांग्रेस की न्याय रैली में नहीं पहुंच पाई. सुंदरनगर के जवाहर पार्क में कांग्रेस ने प्रियंका गांधी की रैली मोदी की पड्डल रैली के तोड़ के रूप में रखी थी. जिसमें अच्छी-खासी भीड़ भी कांग्रेस की ओर से जुटा ली गई थी. सुरक्षा कारणों के चलते एसपीजी के मानकों के अनुरूप रैली में व्यवस्था भी की गई थी.

वहीं पर कांग्रेस के दिग्गज नेता पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, कांग्रेस की प्रदेश प्रभारी रजनी पाटिल, राज्यसभा में कांग्रेस के उप नेता आनंद शर्मा, पूर्व मंत्री पं. सुखराम, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री समेत कई नेता मौजूद थे. सुंदरनगर की न्याय रैली से पूर्व पॉलिटेक्निक कालेज से जवाहर पार्क तक प्रियंका गांधी के रोड शो की व्यवस्था भी की गई थी. लेकिन ऐन वक्त पर प्रियंका का विमान लैंड न हो पाने की वजह से उनका सुंदरनगर दौरा रद हो गया.

प्रियंका के आने की उम्मीद को लेकर पंडाल में लोग स्थानीय नेताओं के लंबे-लंबे भाषण झेलते रहे. मगर जब उन्हें पता चल कि प्रियंका गांधी अब नहीं आने वाली है, तब लोग रैली स्थल से जाने शुरू हो गए. हालांकि, पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने अपने संबोधन के दौरान भी यही कहा कि मेरे बाद आप प्रियंका गांधी को सुनेंगे, मैं तो गैप को भरने के लिए खड़ा हुआ हूं.

कांग्रेस की न्याय रैली पूरी तरह से प्रियंका गांधी को ही समर्पित थी. मंच पर उनके ही बड़े-बड़े बैनर और कट आउटस लगे हुए थे. उनकी सुरक्षा के मानकों के आधार पर ही मंच के सामने बैरिकेटस और रैली में जाने वालों की जांच की जा रही थी. मगर इस सारे तामझाम के बावजूद प्रियंका के न आने से लोगों में भारी निराशा का आलम रहा.

कांग्रेस महासचिव का न्याय रैली के बहाने हिामचल प्रदेश में यह पहला कार्यक्रम था.जिसमें भारी संख्या में महिलाएं उपस्थित थी. जो प्रियंका की एक झलक पाने और उन्हें सुनने की इच्छुक थी. वहीं मोदी की विशाल पड्डल रैली के बाद कांग्रेस प्रियंका की रैली से अपनी स्थिति को मजबूत करना चाहती थी. लेकिन प्रियंका के न आ पाने से कांग्रेस की उम्मीदों पर पानी फिर गया ,वहीं पर कांग्रेस जनों विशेष कर महिलाओं में निराशा का आलम रहा. इसके बावजूद कांग्रेस कार्यकर्ता अपने साथ तिरंगे झंडे और प्रियंका के कटआउटस अपने साथ लेकर वासप अपने घरों को लौटते देखे गए.