पठानकोट-जोगिन्द्रनगर रेलवे मार्गों पर अब रेलगाड़ी तेज गति से दौड़ेगी

पठानकोट-जोगिन्द्रनगर रेलवे मार्गों पर अब रेलगाड़ी तेज गति से दौड़ेगी-Panchayat Times

शिमला. शिमला-कालका ट्रेक और पठानकोट-जोगिन्द्रनगर रेलवे मार्गों पर अब रेलगाड़ी तेज गति से दौड़ेगी. वर्तमान में इन मार्गों पर रेल की गति 25 किलोमीटर प्रति घंटा है, जिसे बढ़ाकर 35 किलोमीटर प्रति घंटा की जाएगी. शिमला पहुंचे केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के साथ भेंट के दौरान यह बात कही.

पीयूष गोयल ने कहा कि इन दोनों रेलों की गति को शीघ्र ही 25 किलामीटर से बढ़ाकर 35 किलोमीटर प्रति घंटा कर दिया जाएगा और इसे 50 किलोमीटर प्रति घंटा करने के प्रयास किए जाएंगे. उन्होंने यह भी आश्वस्त किया कि शिमला स्थित बस अड्डे के पास व्यावसायिक परिसर कम बहुमंजिला कार पार्किंग के निर्माण के प्रयास किए जाएंगे.

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने पीयूष गोयल से कालका-शिमला और पठानकोट-जोगिन्द्रनगर रेलवे मार्गों पर रेल की गति बढ़ाने का आग्रह करते हुए कहा कि वर्तमान में कालका-शिमला रेलवे मार्ग पर रेल की गति 25 किलोमीटर प्रति घण्टा है, जिसे बढ़ाए जाने की आवश्यकता है. उन्होंने केन्द्रीय मंत्री से यह भी आग्रह किया कि इन रेलवे मार्गों पर चलने वाले डिब्बों को आकर्षक बनाया जाए, जिससे इन रेलों पर आने वाले पर्यटकों को अधिक से अधिक संख्या में आकर्षित किया जा सके.

जय राम ठाकुर ने केन्द्रीय मंत्री से शिमला स्थित पुराने बस अड्डे के नजदीक रेलवे भूमि पर एक व्यावसायिक परिसर कम बहुमंजिला कार पार्किंग के निर्माण का अनुरोध किया, जिससे इस भूमि का इस्तेमाल पर्यटकों की और अन्य लोगों के वाहन की पार्किंग के लिए प्रयोग किया जा सके. मुख्यमंत्री ने भानुपल्ली-बिलासपुर-बैरी रेल लाइन पर कार्य की गति बढ़ाने का भी आग्रह किया.