दिव्यांग छात्रा को पेंशन नहीं दिए जाने पर अफसरों को फटकार

खनन सचिव और वर्तमान में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सुनील बर्णवाल, खनन कमिश्नर
फाइल फोटो

रांची. झारखंड के मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सुनील वर्णवाल ने गोड्डा में पदस्थापित जल संसाधन विभाग के सहायक अभियंता गोपाल हरि प्रसाद की मृत्यु के बाद उनकी पत्नी को बीमा, पेंशन एवं अन्य राशि का भुगतान तत्काल करने का निर्देश दिया.

वर्णवाल ने मंगलवार को सूचना भवन स्थित मुख्यमंत्री जनसंवाद केंद्र में कुल 14 मामलों की समीक्षा की. उन्होंने इस मामले को लंबित रखने पर विभाग के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाई. उन्होंने अधिकारियों को दो-टूक कहा कि  सहायक अभियंता की मृत्यु के डेढ़ साल बाद भी उनकी पत्नी को राशि का भुगतान नहीं किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है. सोमवार तक इस मामले का निपटारा करने का निर्देश दिया.

चतरा जिले के उत्क्रमित मध्य विद्यालय, असढ़िया में कक्षा 1 से 8 तक के छात्र-छात्राओं को पिछले तीन वर्षो से छात्रवृत्ति का लाभ नहीं दिए जाने के मामले पर वर्णवाल ने विभाग के अधिकारियों को निदेश दिया कि तत्काल सभी छात्रों का राशि का भुगतान करें. देवघर की दिव्यांग छात्रा पूजा कुमारी को एक साल पहले स्वीकृत दिव्यांगता पेंशन का भुगतान अब तक शुरू नहीं किए जाने पर भी वर्णवाल ने सख्त नाराजगी जाहिर की.

उन्होंने कहा कि ऐसी लापरवाहियां किसी हाल में बर्दाश्त नहीं होंगी. उन्होंने छात्रा को पेंशन का भुगतान जल्द से जल्द कराने का निर्देश दिया, धनबाद के आमझार ग्राम को वर्ष 2015-16 में सुखाड़ घोषित होने के बाद भी किसानों को अब तक सुखाड़ राहत की राशि का भुगतान नहीं किए जाने की शिकायत जनसंवाद में दर्ज कराई गई थी. इस बाबत पूछे जाने पर संबन्धित विभाग के अधिकारी ने बताया कि कृषक मित्रों के आवेदन में त्रुटि होने के कारण सीओ, बलियापुर की ओर से आवेदन अस्वीकृत कर दिए गए थे. वर्णवाल ने विभाग को कहा कि इसकी जांच कराएं और एक महीने के अंदर मामले को निष्पादित करें.

मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव ने खूंटी के आदिम जनजाति सेवा मंडल उच्च विद्यालय, दुनरदगा में चहारदीवारी नहीं होने से जुड़ी शिकायत पर अनटाइड फंड से योजना को स्वीकृति देकर तत्काल काम शुरू कराने का निर्देश दिया. दुमका के कारुडीह गांव में मार्च 2017 में भूमि संरक्षण कार्यालय, दुमका की ओर से डीप बोरिंग कराई गई थी, लेकिन अब तक वहां मोटर नहीं लगाया गया है और इससे ग्रामीणों को जलापूर्ति का लाभ नहीं मिल पा रहा है. इस शिकायत की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव ने इस मामले में संबंधित विभागीय पदाधिकारी को अपने कार्यालय में रिपोर्ट के साथ तलब किया है.

सदर अस्पताल, सिमडेगा के एएनएम स्कूल, सिमडेगा में लगभग कार्यरत चतुर्थवर्गीय कर्मचारियों को अगस्त 2017 से अब तक के मानदेय का भुगतान नहीं किए जाने से जुड़ी शिकायत पर विभाग की ओर से बताया गया कि पांच दिन के अंदर बकाए का भुगतान कर दिया जाएगा. इसपर मुख्यमंत्री सचिवालय के संयुक्त सचिव रमाकांत सिंह ने बकाए का भुगतान कर इसी रिपोर्ट भेजने का निर्देश दिया.