हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी के कारण रोहतांग दर्रा हुआ बंद

हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी के कारण रोहतांग दर्रा हुआ बंद-Panchayat Times
प्रतीक चित्र

शिमला. हिमाचल प्रदेश की ऊंची चोटियां बर्फबारी से लकदक हो गई हैं. जनजातीय जिलों लाहौल-स्पीति, किन्नौर के अलावा कुल्लू और चंबा के अधिक उंचाई वाले इलाकों में बुधवार रात से बर्फ गिर रही है. लाहौल घाटी के प्रवेश द्वार रोहतांग दर्रे पर करीब एक फुट ताजा हिमपात होने से सामरिक महत्व के मनाली-लेह मार्ग पर वाहनों की आवाजाही बंद हो गई है.

रोहतांग दर्रा कुल्लू- लाहौल-स्पीति जिलों को जोड़ता है. बर्फबारी के कारण एक सप्ताह के भीतर दूसरी बार रोहतांग दर्रा बंद हुआ है. लाहौल-स्पीति के मुख्यालय केलंग में एक सेंटीमीटर ताजा हिमपात हुआ है. कुल्लू के सोलंग नाला में भी बर्फ गिर रही है. जलोढ़ी दर्रा अवरुद्ध हो गया है.

राजधानी शिमला और आसपास के क्षेत्रों में सुबह से सर्द हवाएं चल रही हैं और रुक-रुक कर बारिश हो रही है. धर्मशाला सहित निचले इलाकों में बादल घिरे हुए हैं. धर्मशाला में आज (गुरुवार) से शुरू होने वाले दो दिवसीय ग्लोबल इन्वेस्टर मीट पर भी बारिश का साया है. इन्वेस्टर मीट में देश-विदेश के नामी उद्योगपति हिस्सा ले रहे हैं.

बारिश और बर्फबारी से तापमान में 3 से 5 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई है. प्रदेश में ठंड का प्रकोप बढ़ गया है. केलांग में तापमान माइनस में है. केलांग में बुधवार को न्यूनतम तापमान -0.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। कल्पा में न्यूनतम तापमान 2.5, कुफरी में 2.6, मनाली में 3.6, शिमला में 5.7, डल्हौजी में 6.6, सियोबाग व सोलन में 9, जुब्बड़हट्ट में 9.2, चंबा में 10, भुंतर में 10.9, सुंदरनगर में 12.3, धर्मशाला में 12.6, कांगड़ा में 13.2, मंडी में 13.9, ऊना में 14.8 और नाहन में 15.9 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड हुआ.

मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान बारिश और बर्फबारी जारी रहने की संभावना जताई है. मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से मौसम में बदलाव आया है. पर्वतीय क्षेत्रों में 8 नवम्बर तक बर्फबारी, मैदानी और मध्यवर्ती इलाकों में गरज के साथ बारिश का अनुमान है. 9 नवम्बर को मौसम साफ रहने की उम्मीद है.