”स्वास्थ्य के क्षेत्र में ग्रामीण जनता को मिल रहा है भरपूर लाभ”

रांची. झारखंड स्टेट गेस्ट हाउस में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने प्रेस वार्ता में कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी का सपना पूरा कर रही है हमारी सरकार. केंद्र सरकार ने झारखंड में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने के लिए कई योजनाएं बनायी हैं. झारखंड में स्वास्थ्य सुविधा को बेहतर करने के लिए देवघर में एम्स खोला जा रहा है.

हेल्थ के क्षेत्र में केंद्र और राज्य सरकार बेहतर काम कर रही है. स्वास्थ सुविधा केंद्र का आज प्रधानमंत्री शिलान्यास करेंगे. पूरे भारत में 2022 तक 20 एम्स खोले जाने की योजना है. उन्होंने बेंगलुरु में विपक्ष की एकजुटता पर कहा कि यह एक राजनीतिक सर्कस है. वर्ष 2019 के आते-आते यह जमावड़ा बंगाल की खाड़ी में गिर जायेगा. यह देश हित में नहीं हैं.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देशहित में कार्य कर रहे हैं. हिंदू धर्म जीवन जीने की पद्धति है. मैं हिंदू धर्म के साथ साथ देशहित को प्राथमिकता देता हूं. वंही, उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार झारखंड में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) खोल रही है. रांची में भी क्षेत्रीय एम्स खोलने को लेकर केंद्रीय मंत्रिमंडल के पास प्रस्ताव विचाराधीन है.

गरीबों के लिए केंद्र सरकार अनेक योजना लाई है. जो जनता के हित में है और ग्रामीण क्षेत्र की जनता इसका भरपूर लाभ उठा पा रही है. प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा एनएचएम में प्रधानमंत्री स्वास्थ मिशन के तहत कार्य किया जा रहा है. इंद्रधनुष योजना के तहत केंद्र सरकार ने बेहतर कार्य किया है.

राज्य के हर जिले में डायलिसिस केंद्र खोला गया है और बीपीएल को मुफ्त सेवा दिया जाता है. हर महीने के 9 तारीख को सुरक्षित मासिक सेवा का लाभ आप स्वास्थ केंद्र में ले सकते है. अमृत योजना के तहत 100 रुपए की दवा 30 रुपया में देने का प्रवधान है.राष्ट्रीय जन औषधि योजना के तहत सस्ती दवाई मिलती है। गरीबों के लिये जेनरिक दवा की सुविधा हर जिले में उपलब्ध है.

उन्होंने कहा कि अटल बिहारी बाजपेयी के समय ही यह स्वास्थ्य नीति बनी थी. लेकिन, नरेंद्र मोदी के दिशा निर्देश में आयुष केंद्र खोला गया है. आयुष केंद्र में 41 सौ मरीजों को आॅपरेशन के तहत बचाया गया है.

स्वच्छता अभियान से आबादी के व्यवहार में बदलाव आया है

स्वच्छ भारत योजना जो चलाया गया है इससे आधी आबादी जनता के रहन-सहन में बदलाव आया है. देश भर में 73 सुपर स्पेशलिस्ट हॉस्पिटल में 25 हॉस्पिटल बनकर तैयार हो गया है.देश भर में 57 मेडिकल कॉलेज 2016-17 में दिया है. झारखंड को दो मेडिकल कॉलेज दिया गया है. बिहार को 5 मेडिकल कॉलेज दिया गया है. 70 साल में जो कार्य कभी नहीं हुआ वह हमारी सरकार 4 सालों में करके दिखाया है.

आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रधान मंत्री स्वास्थ सेवा योजना और स्वास्थ केंद्रों पर 12 चिकित्सक पद्धति योजना चलायी जा रही है. स्वास्थ सुरक्षा योजना के तहत देश के 40 प्रतिशत लोगों को लाभ अभी तक मिल चुका है. 5 लाख स्वास्थ सुरक्षा योजना के तहत मिलने की योजना है. मोदी केयर में भी आप स्वास्थ सेवा का बेहतर सेवा ले सकते हैं.

आयुष्मान भारत को जन आंदोलन के रूप में इसे स्वास्थ सेवा के रूप में प्रचार प्रसारित करने का संकल्प है. घर-घर के लिये मोबाइल यूनिट स्वास्थ सेवा के लिये है. जिसका उपयोग जनता कर सकती है. आयुष्मान भारत योजना में 1352 प्रकार के जांच होते हैं.