हिमाचल में अभी स्‍कूल और धार्मिक संस्‍थान रहेंगे बंद : जय राम ठाकुर

शिमला. हिमाचल में फिलहाल शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे. धार्मिक संस्थानों को खोलने को लेकर भी अभी कोई फैसला नहीं हुआ है. वर्तमान की भांति अंतर्राज्यीय आवागमन सिर्फ पास के माध्यम से ही होगा. सैलानियों के प्रदेश में प्रवेश को लेकर सरकार मानक संचालन प्रक्रिया तैयार कर रही है.

सैलानी प्रदेश में प्रवेश कर सकेंगे

मानक संचालन प्रक्रिया के तहत ही सैलानी प्रदेश में प्रवेश कर सकेंगे. अलबत्ता उन्हें अभी कुछ और वक्त इंतजार करना होगा. फिलहाल प्रदेश के होटल प्रदेश वासियों के लिए ही खोले गए हैं.
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने मंगलवार को शिमला में पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत में यह जानकारी दी.

हिमाचल में कोरोना पॉजिटिव के मामले बड़े हैं

 मुख्यमंत्री ने कहा कि बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों के कारण हिमाचल में कोरोना पॉजिटिव के मामले बड़े हैं. क्योंकि प्रदेश आने वाले अधिकांश लोग उन राज्यों से आए हैं जहां पर कोरोना का प्रकोप अधिक है. इसे देखते हुए सरकार यह अनुभव कर रही है कि हिमाचल प्रदेश में इंटर स्टेट आने जाने की पास पर ही  व्यवस्था कायम रहेगी। कहा कि सैलानियों को अभी हिमाचल में आने के लिए इंतजार करना होगा. प्रदेश में हिमाचल के लोगों के लिए ही होटल खुले रहेंगे. प्रदेश में सैलानियों के आने के लिए एसओपी बनाई जा रही है.


मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट को दिए संदेश का अभिनंदन किया और प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत राशन व दाल को नवम्बर महीने तक देने की घोषणा का स्वागत किया. इसके लिए उन्होंने प्रदेश सरकार व राज्य की जनता की ओर से पीएम का स्वागत किया. उन्होंने कहा कि पीएम गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत देश के 80 करोड़ लोगों को लाभ मिला. उस योजना केा जारी करते हुए जुलाई से न व बर तक भी यह व्यवस्था जारी रहेगी. 5 किलो गेहूं या चावल व एक किलो दाल मिलेगी। इस पर केंद्र सरकार 90 हजार करोड़ रुपये अतिरिक्त खर्च करने जा रही है.
उन्होंने कहा कि वन नेशन वन राशन कार्ड को लागू करने वाला हिमाचल पहला राज्य है. उन्होंने कहा कि जैसे ही देश ने अनलॉक-वन में प्रवेश किया तो लोगों में गाईडलाईन में गंभीरता की कमी आई है। पीएम ने कहा कि अभी कोरोना का दौर समाप्त नहीं हुआ है. ऐसे में इस वायरस से बचने के लिए जो सावधानियां बताई गई है उसका पालन करे.

 मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने एक सवाल के जवाब में कहा कि प्रदेश सरकार पेट्रोल व डीजल के दाम बढऩे को लेकर सारी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं. इसको लेकर समय आने पर निर्णय लिया जाएगाय केंद्र से पैकेज मांगने के सवाल पर मु यमंत्री ने कहा कि केंद्र की परिस्थति वेसी है जैसी हमारी है. उन्होंने कहा कि पीएम बिना मांगे ही पैकेज दे रहे हैं. 20 हजार करोड़ रुपये का पैकेज दिया है. इसके अतिरिक्त इस संकट के दौर में प्रदेश केा अपनी व्यवस्थाओं पर जयादा गंभीरता के साथ काम करना है.