बारिश व बर्फबारी से नेशनल हाईवे सहित कई अन्य सड़कें बाधित

बारिश व बर्फबारी से नेशनल हाईवे सहित कई अन्य सड़कें बाधित - Panchayat Times

शिमला. प्रदेश में बारिश व बर्फबारी का दौर जारी रहने से सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. पहाड़ी इलाकों में अनेक सड़कों के अवरूद्व होने से परिवहन व्यवस्था चरमरा गई है. शिमला, चंबा, कुल्लू और मंडी जिलों में 493 सड़कें यातायात के लिए पूरी तरह बंद हैं. इनमें पांच नेशनल हाईवे भी शामिल हैं.

शिमला जोन में 300 सड़कें बर्फबारी के कारण बंद  

बर्फबारी से शिमला जिला सबसे ज्यादा प्रभावित है. अकेले शिमला जोन में 300 सड़कें बर्फबारी के कारण बंद पड़ गई हैं. अप्पर शिमला का लगातार दूसरे दिन राज्य मुख्यालय से सपंर्क कटा रहा. परिवहन निगम की कई बसें बर्फबारी में फंसी हैं.

रोहड़ू सहित उपरी क्षेत्रों के लिए एचआरटीसी की बस सेवा बाधित

हिन्दुस्तान-तिब्बत राष्ट्रीय राजमार्ग ढली के आगे कुफरी और जुब्बल के खड़ापत्थर में अवरूद्व है. इस कारण रोहड़ू सहित उपरी क्षेत्रों के लिए एचआरटीसी की बस सेवा बाधित हुई है. जबकि रामपुर के लिए एचआरटीसी की बसें बसंतपुर के रास्ते भेजी जा रही हैं. ऊपरी क्षेत्रों में सड़कें न खुल पाने के कारण लोगों को रोजमर्रा की वस्तुओं की भी किल्लत महसूस होने लगी है. यदि हालात जल्द न सुधरे तो परेशानियां बढ़ना तय है.

पांच नेशनल हाईवे सहित 493 सड़कें अवरूद्व

लोकनिर्माण विभाग ने कहा है कि प्रदेश भर में व्यापक बर्फबारी से पांच नेशनल हाईवे सहित 493 सड़कें अवरूद्व हैं. इनमें शिमला जोन में 300 सड़कों पर यातायात ठप्प है. रामपुर सर्कल में 151, रोहड़ू सर्कल में 96 और शिमला सर्कल में 48 सड़कें बंद हैं. कांगड़ा जोन के डल्हौजी में 119 और पालमपुर में तीन सड़कें बर्फबारी से अवरूद्व हैं. मंडी जोन के कुल्लू सर्कल में 22 और मंडी सर्कल में 44 सड़कों पर यातायात ठप्प है. 

इसी तरह शिमला व कांगड़ाा जोन में तीन नेशनल हाईवे भी अवरूद्व हैं. खराब मौसम के बीच सड़कों को बहाल करने में मुश्किलें आ रही हैं. हालांकि बहाली कार्य में 252 मशीनें तैनात की गई हैं. इनमें 297 जेसीबी, 37 टिप्पर और 16 डोजर शामिल हैं. बर्फबारी से अब तक सड़कों को 72 करोड़ का नुकसान पहुंचा है.

इस बीच एचआरटीसी मुख्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार शिमला जिला के 100 से अधिक रूटों पर मंगलवार को एचआरटीसी की बसें नहीं भेजी गईं.

नौ व दस जनवरी को मौसम के साफ रहने का अनुमान

मौसम विभाग ने नौ व दस जनवरी को मौसम के साफ रहने का अनुमान जताया है. लेकिन 11 जनवरी से एक बार फिर बर्फबारी का दौर शुरू हो सकता है. ऐसे में बर्फबारी से पहले इन सड़कों को बहाल करना लोनिवि के लिए चुनौतिपूर्ण रहेगा.