हिमाचल प्रदेश में पड़ी कड़ाके की ठंड, लोगों का जनजीवन हुआ अस्त-व्यस्त

हिमाचल के आठ शहरों का माइनस में पारा, बर्फबारी के कारण 102 सड़कें बंद-Panchayat Times

शिमला. हिमाचल प्रदेश में कड़ाके की ठंड ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है. पूरे प्रदेश में खून जमा देने वाली सर्दी पड़ रही है. शिमला सहित राज्य के नौ शहरों में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे दर्ज किया गया.

लाहौल-स्पीति का केलांग राज्य में सबसे ठंडा स्थल रहा, जहां पारा -17 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ. इस सीजन में पहली बार केलांग में पारा इस स्तर पर पहुंचा है. जबरदस्त सर्दी से लोग घरों में दुबकने को मजबूर हैं. राज्य के पर्यटन स्थलों के अलावा मैदानी इलाकों में भी लोग सर्दी से कांप रहे हैं.
मनाली में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान -7.6 डिग्री, कल्पा में -6.4 डिग्री, कुफरी में -2.6 डिग्री, सुन्दरनगर में -2 डिग्री, सोलन में -1.6 डिग्री और शिमला में -1.3 डिग्री सेल्सियस रहा. इसके अलावा चंबा में शून्य, डलहौजी में 0.2, मंडी में 1, धर्मशाला एवं कांगड़ा में 1.2, हमीरपुर में 3, बिलासपुर एवं ऊना में 3.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.

राहत की बात यह है कि राज्य के अधिकांश भागों में शुक्रवार को धूप खिलने से मौसम सुहावना हो गया है. पर्यटन नगरों शिमला और मनाली में पर्यटक गुनगुनी धूप का लुत्फ उठा रहे हैं. मौसम खुलने से राज्य के पहाड़ी इलाकों में अवरुद्ध सड़कों का बहाली कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है. राज्य भर में 1000 सड़कें बर्फबारी से अवरुद्ध हैं.

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि आगामी 24 घण्टों के दौरान पहाड़ी इलाकों में फिर हिमपात की संभावना है. 12 से 15 जनवरी तक समूचे प्रदेश में मौसम खराब रहेगा. पर्वतीय भागों में 13 जनवरी को भारी हिमपात होने का अनुमान है.