शांता कुमार ने की हिमालयन हिमाचल समारोह की अध्यक्षता

शांता कुमार ने की हिमालयन हिमाचल समारोह-2019 की अध्यक्षता-Panchayat Times
फाइल फोटो :शांता कुमार

शिमला. सांसद एवं पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने रविवार को नई दिल्ली में हिमालयन जागृति मंच कि ओर से आयोजित हिमालयन हिमाचल समारोह-2019 की अध्यक्षता करते हुए हिमाचलियों की एक विशाल सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश की समृद्ध परंपराओं और अनूठी संस्कृति को संरक्षित करने का आग्रह किया. उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में एकजुट रहते हुए इस उद्देश्य की दिशा में कार्य करने का भी आहवान किया.

उन्होंने कहा कि हिमाचली होना गर्व की बात है क्योंकि राज्य देश के अन्य राज्यों के लिए विकास का एक आदर्श है. प्रदेश के विकास संकेतकों की राष्ट्रीय स्तर पर और विश्व बैंक की ओर से भी सराहना की गई है. 9 फरवरी को हिमाचल के मुख्यमंत्री ने विकासोन्मुखी बजट पेश किया है, जो विकास प्रक्रिया को और मजबूत करेगा. राज्य के नेता लोगों के मामलों के प्रति संवेदनशील है और राज्य स्तर पर उन्हें हल करने के लिए बेहतर प्रयास कर रहे हैं. उन्हें केंद्र के साथ भी उठाया जा रहा है.

शांता कुमार ने ईमानदारी से अपने कर्तव्यों का पालन करने की आवश्यकता पर बल दिया और कहा कि केवल कर्तव्यनिष्ठ नागरिक ही एक मजबूत समाज और राष्ट्र में योगदान दे सकते हैं. समाज के जरुरतमंदों और वंचितों के प्रति हमारी बड़ी जिम्मेदारी है. उन्होंने स्वामी विवेकानंद और उनकी शिक्षाओं को मिशनरी दृष्टिकोण में अपनाकर समाज के गरीब और जरुरतमंदों की सेवा के लिए आगे आने का आहवान किया. उन्होंने कहा कि समाज की सेवा ही सर्वशक्तिमान की सेवा है.

उन्होंने कहा कि सभी अधिकारियों व दिल्ली में विभिन्न संगठनों में कार्यरत हिमाचलियों से अपने कर्तव्यों को ईमानदारी से निर्वाह करने का आग्रह किया. उन्होंने लोगों को बसंत पंचमी के शुभ अवसर पर बधाई दी और राष्ट्रीय राजधानी में हिमालयी जागृति मंच की परोपकारी गतिविधियों की भी सराहना की.

इस अवसर पर शांता कुमार ने विभिन्न प्रबुद्ध व्यक्तियों को अपने-अपने क्षेत्र में बेहतर सेवाओं के लिए सम्मानित किया.
इस अवसर पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई और उनके सर्वोच्च बलिदान को याद किया गया. हिमालयन जागृति मंच के अध्यक्ष एस. एस. चौहान ने मंच की गतिविधियों को विस्तारपूर्वक जानकारी दी. एनसीआर में रहने वाले राज्य के लोगों से संबंधित विभिन्न मामलों बारे अवगत करवाया.