बर्फबारी से सेब की फसल को हुआ लाखों का नुकसान

बर्फबारी से सेब की फसल को हुआ लाखों का नुकसान-Panchayat Times

किन्नौर. बुधवार रात से रुकरुक कर हो रही बारिश के बाद सुबह जिला के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी दर्ज की गई. समाचार लिखे जाने तक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी व निचले क्षेत्रों में बारिश जारी थी. कल्पा में दो इंच, छितकुल में पांच, नेसंग, असरंग में चार चार इंच पड़ी है.

इसी तरह रिकांगपिओ, भावानगर, स्पिलो, पावरी आदि निचले क्षेत्रो में पूरा दिन बारिश होती रही. बर्फबारी व बारिश से समूचा जिला में ठंड बढ़ गई है. बर्फबारी के चलते छितकुल और नेसंग गांव के लिए वाहनों की आवाजाही नही हो सकी. जिला के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी के चलते सेब बागवानों की चिंता भी बढ़ने लगी है.

जिला के ऊंचाई वाले क्षेत्रों रोपा वेली, रिब्बा चांगो, हंगरंग वेली, रकछम, कल्पा कंडा, खवांगी कंडा क्षेत्रों में सेब का तुड़ाई हो रही है. लेकिन लगातार बर्फबारी के चलते सेब बागवानों ने सेब तुड़ान भी रोक दिया गया है. और सेब की आधी फसल पेड़ो पर ही पड़ी हुई है जिससे बागवानों को लाखों का नुकसान हो सकता है.

वही बागवानों की चिंता बढ़ी है कि बर्फबारी जारी रहा तो सेब मंडियों तक कैसे पहुचाया जाए. बर्फबारी व बारिश के बाबाजूद रिकांगपिओ से शिमला व रिकांगपिओ से काज़ा की ओर यातायात अभी जारी है.