हिमाचल के पहाड़ी इलाकों में हुई बर्फबारी, लोगों के चेहरे खिले

हिमाचल के पहाड़ी इलाकों में हुई बर्फबारी, लोगों के चेहरे खिले-Panchayat Times
प्रतीक चित्र
शिमला. हिमाचल प्रदेश के अधिक ऊंचाई वाले कई क्षेत्रों में बुधवार को भी रूक-रूक कर बर्फबारी का दौर जारी रहा. लाहौल-स्पीति, कुल्लू, किन्नौर और चंबा जिलों की पर्वत श्रंखलाओं पर हिमपात दर्ज किया गया. रोहतांग दर्रे पर पिछले दो दिन से बर्फ गिर रही है. चंबा के विख्यात पर्यटन स्थल पर डल्हौजी पर भी ताजा हिमपात हुआ, जिससे यहां घूमने आए पर्यटकों के चहरे खिल गए.
प्रदेश के मैदानी इलाकों में कुछ स्थानों पर बारिश हुई. जिला कांग्रेस के मुख्यालय धर्मशाला में दिन के समय भारी बारिश हुई, वहीं बैजनाथ में ओलावृष्टि हुई. इसी तरह राजधानी शिमला में भी मेघ बरसे. बीते 24 घंटों की बात करें, तो मनाली में 13, कोठी में 7, शिमला में 2 और सियोबाग में 1 मिमी वर्षा रिकाॅर्ड की गई.
अक्तूबर में बर्फबारी और बारिश के कारण तापमान में भारी गिरावट आ गई है, जिससे लोगों को ठंड का सामना करना पड़ रहा है. उच्च पर्वतीय इलाकों में तापमान जमाव बिंदू के करीब पहुंच गया है. लाहौल-स्पीति का मुख्यालय केलंग राज्य में सबसे ठंडा स्थल रहा, जहां बुधवार को न्यूनतम तापमान 2.9 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया.
इसी तरह किन्नौर के कल्पा में न्यूनतम तापमान 6.2, मनाली में 7.6, कुफरी में 9, शिमला में 11, डल्हौजी में 11.4, भुंतर में 12.3, पालमपुर में 13.5, सोलन में 13.7 चंबा में 14, धर्मशाला में 15, कांगड़ज्ञ में 16.2, मंडी में 16.6, उना में 17.2, हमीरपुर में 18.8 और बिलासपुर में 19 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.
मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से मौसम में बदलाव आया है और आगामी 24 घंटों के दौरान राज्य के मध्यवर्ती इलाकों में गरज के साथ बारिश और उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में हिमपात की संभावना है. कहा कि अगले दो दिन में मानसून हिमाचल से विदा हो जाएगा. 11 से 15 अक्तूबर तक पूरे प्रदेश में मौसम साफ रहेगा.