हिमाचल के पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही बर्फबारी से ठिठुरन बढ़ी

हिमाचल के पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही बर्फबारी से ठिठुरन बढ़ी-Panchayat Times
प्रतीक चित्र

शिमला. हिमाचल प्रदेश के पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही बर्फबारी से ठिठुरन बढ़ गई है. मनाली और डलहौजी सहित पांच शहरों का पारा माइनस में चला गया है. राजधानी शिमला में तापमान शून्य के करीब रिकॉर्ड हुआ. शनिवार को लाहौल-स्पीति जिले का मुख्यालय केलंग -9.2 डिग्री तापमान के साथ सबसे ठंडा क्षेत्र रहा.

कल्पा में न्यूनतम तापमान -4.6, मनाली में -1.4, कुफरी में -0.5 और डलहौजी में -0.4 डिग्री रहा. इसके अलावा शिमला में 0.2, पालमपुर में 2.5, धर्मशाला में 2.8, सोलन में 3.1, चंबा में 3.2, भुंतर में 4.6, सुंदरनगर में 5.2, कांगड़ा में 6.8, मंडी में 7, हमीरपुर में 8.7 और बिलासपुर में 9.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.


बीते 24 घंटे के दौरान कल्पा में 24, गोंदला में 8, पूह में 6 और खदारला में 2 सेंटीमीटर बर्फ गिरी। पहाड़ी क्षेत्रों में हिमपात से जनजीवन अस्त-व्यस्त है.

शिमला, चंबा, कुल्लू, किनौर और लाहौल-स्पीति में अनेक संपर्क व मुख्य सड़कों के अवरुद्ध होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. शिमला से सटे पर्यटन स्थल कुफरी में भी हिमपात से वाहनों की आवाजाही पर असर पड़ा है. राज्य में बर्फबारी की वजह से शनिवार को 186 सड़के अवरुद्ध रहीं. इनमें तीन नेशनल हाइवे शामिल हैं. शिमला जोन में सर्वाधिक 132 सड़कों पर यातायात ठप है.


मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह में बताया कि अगले 24 घण्टों यानी रविवार को मौसम के साफ रहने का अनुमान है लेकिन इसके बाद 20 से 22 जनवरी तक मैदानी क्षेत्रों में बारिश व ऊंचे इलाकों में हिमपात की संभावना है. 23 व 24 जनवरी को पूरे प्रदेश में मौसम साफ रहेगा.