मनाली, लाहौल-स्पीति और किन्नौर में बर्फबारी शुरू, पर्यटकों के चेहरे खिले

मनाली, लाहौल-स्पीति और किन्नौर में बर्फबारी शुरू, पर्यटकों के चेहरे खिले - Panchayat Times

मनाली. हिमाचल प्रदेश के ऊंचे इलाकों में भारी हिमपात हो रहा है. जनजातीय जिलों लाहौल-स्पीति और किन्नौर के अतिरिक्त विख्यात पर्यटन नगरी मनाली भी बर्फ की सफेद चादर बिछ गई है. राजधानी शिमला में आसमान पर बादलों का डेरा है और मौसम बर्फबारी के अनुकूल बना हुआ है. मौसम विभाग ने पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी और मैदानों में गरज के साथ बारिश और ओलावृष्टि का अलर्ट जारी किया है.

उपरी शिमला की सड़कें खुलीं, हफ्ते बाद बहाल हुई बस सेवा

विभाग के मुताबिक उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फ गिरने का सिलसिला जारी है. सोमवार सुबह साढ़े आठ बजे तक लाहौल-स्पीति के मुख्यालय केलंग में 45 सेंटीमीटर और किन्नौर के कल्पा में 15 सेंटीमीटर बर्फ दर्ज की गई है. मनाली में दो सेंटीमीटर बर्फ गिरी है. मनाली में ताजा हिमपात का यहां घूमने आए सैलानी भरपूर आंनद ले रहे हैं.

उधर, लाहौल-स्पीति में सामान्य जनजीवन प्रभावित है. जिले में अधिकतर संपर्क मार्गों के ठप पड़ने से परिवहन व्यवस्था चरमरा गई है. कई क्षेत्रों में बिजली और दूरसंचार व्यवस्था भी प्रभावित है. ठंड बढ़ने से लोग घरों में कैद हैं.

केलंग राज्य का यह सबसे ठंडा स्थल रहा. यहां सोमवार को न्यूनतम तापमान -6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. इसके अलावा कल्पा में न्यूनतम तापमान -3.3, मनाली में -0.8, डलहौजी में 4.2, धर्मशाला में 4.8, कुफरी में 5, भुंतर में 7.1, सोलन में 7.4 और शिमला में 7.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि राज्य में पश्चिम विक्षोभ सक्रिय होने से 18 जनवरी तक पूरे प्रदेश में बारिश और बर्फबारी की संभावना है. उन्होंने 16 जनवरी को पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी और मैदानों में भारी बारिश-ओलावृष्टि की चेतावनी दी है.

माध्यमPT DESK
शेयर करें