आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की मौत के लिए राज्य सरकार कसूरवार : कुलदीप सिंह राठौर

चीन से सटे हिमाचल बार्डर पर खुफिया तंत्र मजबूत करने की जरूरत: कुलदीप राठौर- Panchayat Times
साभार इंटरनेट

शिमला. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कुल्लू जिले के सेंज, शाक्टी में पल्स पोलियो की खुराक पिलाने गई एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता गीता देवी की मौत पर गहरा दुःख व्यक्त किया है. साथ ही शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना जताई है. राठौर ने इस हादसे के लिए  राज्य सरकार को दोषी ठहराया है.

उन्होंने प्रदेश सरकार से मृतक आश्रित को तुरंत सरकारी नौकरी और आर्थिक मदद देने की अपील की. साथ ही कहा कि सरकार और स्थानीय प्रशासन को जब इस क्षेत्र में भारी बर्फबारी की पूरी जानकारी थी तब एक महिला आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को अकेले भेजने का निर्णय ही गलत था.

राठौर ने कहा कि प्रदेश में 18 हजार से ऊपर आंगनबाड़ी केंद्र है. इनमें 36 हजार से अधिक कार्यकर्ता और सहायक ग्रामीण क्षेत्रों में सेवाएं दे रहे हैं. इसके अलावा अन्य सामाजिक दायित्व का कार्य भी इनके कंधे पर लाद दिया जाता है. इसके बावजूद गांव में आंगनबाड़ी केंद्रों की सुध प्रदेश सरकार नहीं ले रही है.

उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी कर्मचारियों के मानदेय में वृद्धि होनी चाहिए. महंगाई के इस समय में छह हजार का मानदेय बहुत कम है. इसके लिए प्रदेश सरकार को मानदेय के अंश में अपना हिस्सा बढ़ाना चाहिए.