प्रदेश की पंचायतों को टीडीएस काटकर ही राशि का भुगतान करना होगा

अनियमितताओं के आरोपों के बीच कागड़ा की बिलासपुर पंचायत में आग से रिकॉर्ड जलकर राख-Panchayat Times
साभार इंटरनेट

सोलन. प्रदेश की पंचायतों को भी अब टीन नम्बर लेना अनिवार्य होगा ताकि पंचायतों में होने वाले विकास के कार्यों पर ठेकेदारों को किये जाने वाले भुगतान राशि से टीडीएस काटा जा सकेगा. ठेकेदारों से बिना टीडीएस काटे कोई भी पंचायत विकास कार्यों की राशि का भुगतान नहीं कर सकेगी. ऐसा करने पर पंचायत को अपनी जेब से टीडएस की राशि सरकार के खाते में जमा करनी होगी.

सोलन में सोमवार को पंचकूला से पहुंची टी डी एस -2 आयकर आयुक्त पूनम शर्मा ने ये बात कही. उन्होंने कहा कि प्रदेश का सोलन पहला जिला है जहां से पंचायतों को टीडीएस काटने बारे जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है. इस प्रकार की कार्यशालाएं प्रदेश के अन्य जिलों में भी आयोजित की जाएंगी.

गत्ता फैक्ट्री में लगी भीषण आग, हुआ करोड़ों का नुकसान

पंचकूला टीडीएस-2 अतिरिक्त आयकर आयुक्त पूनम शर्मा ने कहा प्रदेश सरकार से पंचायतों को विकास राशि जारी की जाती है. प्रत्येक विकास कार्य का भुगतान पंचायतें ठेकेदारों को करती हैं, लेकिन उस भुगतान के समय उनसे टीडीएस नहीं काटा जाता है. जिससे केंद्र सरकार को वित्तीय घाटा हो रहा है. उन्होंने कहा कि इस जागरूकता अभियान की शुरुआत सोलन से की जा रही है. प्रत्येक पंचायत को टिन नम्बर लेने को कहा जा रहा है. जिससे वह भविष्य में ठेकेदारों को पंचायत कार्य के लिए दी जाने वाली राशि से टी डी एस काट कर भुगतान करेंगे.