भारत बंद का असर कहीं कम, कहीं ज्यादा

कांग्रेस की अगुवाई में सोमवार को बुलाए गए भारत बंद - Panchayat Times
प्रतीक चित्र

नई दिल्ली. पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस की अगुवाई में सोमवार को बुलाए गए भारत बंद को ऐन मौके पर आम आदमी पार्टी (आप) ने भी समर्थन कर दिया है. पार्टी के वरिष्ठ नेता और सांसद संजय सिंह खुद भारत बंद की तख्ती लेकर सड़कों पर दिखाई दिए. बंद की शुरूआत राजघाट पर महात्मा गांधी की समाधि पर पुष्पांजलि देकर की गई. इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी, कांग्रेस के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन के अलावा आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह भी अपनी पार्टी के विधायक और नेताओं सेामनाथ भारती, पवन शर्मा और एनडी शर्मा के साथ राजघाट पहुंचे.

कांग्रेस की अगुवाई में सोमवार को बुलाए गए भारत बंद - Panchayat Times
दिल्ली में प्रदर्शन

छत्तीसगढ़ में भारत बंद का असर

भारत बंद का असर पूरे देश में कहीं कम तो कहीं अधिक दिखाई पड़ रहा है. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर सहित राज्य के कई जिलों में व्यापक असर दिख रहा है. बस सेवा पूरी तरह से बंद है, वहीं ऑटो भी सड़कों पर दिखाई नहीं दे रहे हैं. रायपुर के अधिकतर निजी शैक्षणिक संस्थानों ने स्कूलों में छुट्टी कर दी है. छत्तीसगढ़ चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज की तरफ से बंद को समर्थन देने से अनेक व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में आज ताले नहीं खुले. कांग्रेसी नेता सुबह से ही हर प्रमुख चौक चौराहों केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. वहीं पुलिस की तरफ से सुरक्षा के कड़े इंतेजाम किए गए हैं.

झारखंड में प्रदर्शन

भारत बंद के दौरान झारखंड की राजधानी रांची में स्थिति सामान्य नजर आ रही है. ग्रामीण इलाकों में बंद का आंशिक असर है लेकिन शहर में स्थिति पूरी तरह से सामान्य है. रांची पुलिस शहर में सीसीटीवी के जरिए कंट्रोल रूम से भी लगातार मॉनिटरिंग कर रही है.

कांग्रेस की अगुवाई में सोमवार को बुलाए गए भारत बंद - Panchayat Times
प्रतीक चित्र

ये भी पढ़ें- हिमाचल में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गए निजी बस संचालक

तेल की बढ़ी कीमतों के विरोध में ‘भारत बंद’ का असर हिमाचल प्रदेश में भी दिख रहा है. बैंकों और वाणिज्यिक प्रतिष्ठान बड़े पैमाने पर खुले हुए हैं, जबकि कुछ शहरों में दुकानें बंद हैं. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि हड़ताल के कारण यातायात के प्रभावित होने की कोई खबर नहीं है. साथ ही अभी तक किसी भी तरह की हिंसा की खबर नहीं है. ये और बात है कि निजी बस संचालक भी बस के किराए में वृद्धि की मांग को लेकर आज ही हड़ताल कर रहे हैं.

सचिन पायलट ने क्या कहा 

राजस्थान में कांग्रेस ने सुबह नौ बजे से दोपहर तीन बजे तक दुकानें, प्रतिष्ठान बंद रखने की अपील की है. जयपुर, कोटा, अजमेर, उदयपुर सहित प्रमुख शहरों में बंद का व्यापक असर रहा. राज्यभर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बंद के दौरान केंद्र और राज्य सरकार के विरोध में नारेबाजी और प्रदर्शन किया. कई स्कूलों में पहले ही छुट्टी कर दी गई थी. हालांकि सरकारी प्रतिष्ठान खुले रहे. पेट्रोल पंप और अस्पताल भी खुले हैं. बीते रविवार की रात राजस्थान सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर से वैट चार प्रतिशत घटा दिया. इस पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने बयान दिया. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कांग्रेस के दबाव में यह कटौती की है.