सुभाष बराला ने राफेल मामले पर कांग्रेस को घेरा

सुभाष बराला ने राफेल मामले पर कांग्रेस को घेरा-Panchayat Times
फाइल फोटो

पंचकूला. हरियाणा बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने राफेल मुद्दे पर कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि कांग्रेस अब से नहीं बल्कि नेहरू, इंदिरा और राजीव गांधी के जमाने से घोटाले में फंसती नजर आ रही है. राहुल के मुद्दे पर तो कांग्रेस ने भ्रम फैलाने का काम किया है ताकि मुद्दे पर ध्यान भटकाया जा सके.

बराला सोमवार को सेक्टर-10 के एक होटल में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे. बराला ने कहा कि राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट ने खरीद प्रक्रिया या रेट के मामले को लेकर क्लीन चिट दी है जो कि कांग्रेस के मुंह पर तमाचा है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब तक अपने गलत कामों को छुपाने के लिए यह खेल खेलती रही है. वह हमेशा से ही मामले से सभी का ध्यान भटकाने के लिए जेपीसी जांच के ड्रामे कर रही थी.

बराला ने कहा कि हम जहां भी चुनाव हों परफॉर्मेंस के आधार पर जाते हैं. लेकिन, कांग्रेस बवंडर मचा कर जाती है. कांग्रेस कभी भी न्यायालय का सामना नहीं करती. उन तीन विषयों जिन पर सुप्रीम कोर्ट निर्णय दे चुकी हो उस पर किसी भी तरह की टिप्पणी करना अनुचित है.

कांग्रेस के दुष्प्रचार का असर जनता पर पड़ा

बराला ने पांच राज्यों के चुनाव परिणामों के बारे में बोलते हुए कहा कि कांग्रेस के दुष्प्रचार का असर भी जनता पर पड़ा है. यदि किसी गलत बात को विपक्ष बार-बार दोहराता रहे जनता बाद में उसे असली ही मान लेती है, जिसका इन 05 राज्यों के चुनाव पर भी असर पड़ा है. कांग्रेस पार्टी अपने घोटालों को दबाने के लिए ऐसा ड्रामा करती आई है, जितने घोटाले कांग्रेस के राज में हुए हैं. आज तक कभी भी किसी भी राज में नहीं हुए. नगर निगम चुनाव पर बोलते हुए बराला ने कहा कि कांग्रेस पार्टी निगम के चुनावों में निशान पर चुनाव लड़ने से बीच में ही भाग गई.

कांग्रेस को भी सिंबल पर नगर निगम चुनाव लड़ना चाहिए था. 19 दिसम्बर के चुनाव नतीजों में भाजपा पार्टी को जीत मिलेगी. मुख्यमंत्री द्वारा निगम चुनाव में जाति का नाम लेकर वोट मांगने बारे बराला ने कहा मुख्यमंत्री ने जाति के आधार पर वोट देने की अपील नहीं की थी. वह तो रुटिन में किसी सवाल का जवाब दे रहे थे, उसका गलत मिनिंग निकाला गया.