मंडी में भाई गिरफ्तार, मौसेरी बहन को जबरदस्ती जंगल ले गया था

भाई ने मौसेरी बहन के साथ दुष्कर्म किया - Panchayat Times
प्रतीक चित्र

मंडी. जिला मंडी के निहरी क्षेत्र की दुर्गम ग्राम पंचायत हाड़ाबोई में आरोप लगाया गया है कि एक भाई ने मौसेरी बहन के साथ दुष्कर्म किया है. परिजनों ने पीड़ित युवती के साथ सुंदरनगर के बीएसएल थाना में आकर ग्राम पंचायत धन्यारा निवासी आरोपी के खिलाफ दुराचार करने और जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज करवाया है. मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी को बीएसएल थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

आरोपी को गोहर न्यायालय में पेश किया गया है. सुंदरनगर के डीएसपी तरनजीत सिंह का कहना है कि बीएसएल थाना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376 और 506 में दुराचार और जान से मारने की धमकी का मामला दर्ज कर लिया गया है. पीड़िता का बयान गोहर न्यायालय के समक्ष दर्ज हो गया है. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. मामले की जांच जारी है.

भाई ने मौसेरी बहन के साथ दुष्कर्म किया - Panchayat Times
प्रतीक चित्र

ये भी पढ़ें- भाई-बहन का रिश्ता हुआ तार-तार, मौसेरे भाई ने बहन को बनाया हवस का शिकार

पीड़िता 20 वर्ष की हैं. उन्होंने बताया कि वह आजकल घर से लगभग 35 किलोमीटर दूर सुन्नी में किसी निजी कंप्यूटर सेंटर में कोर्स करने जाया करती हैं. शनिवार देर शाम वह अपने घर वापस आ रही थी. अपने बस स्टॉप चलौग कैंची पर उतर गई. उसी दौरान बस में सफर कर रहा आरोपी भी वहां पर उतर गया और पीड़िता का पीछा करने लगा. पीड़िता के अनुसार वह उसे पकड़कर घसीटता हुआ सड़क के साथवाले जंगल में जबरन ले गया.

पीड़िता के अनुसार जब वह चिल्लाने लगी तो आरोपी ने उसका मुंह बंद कर उसकी इच्छा के खिलाफ उसके साथ हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए दुराचार किया. पीड़िता को इस बात के बारे में किसी को नहीं बताने को लेकर जान से मारने की धमकी देकर वहां से फरार हो गया. वहीं पीड़िता के पिता और मौसी के अनुसार पिछले काफी दिनों से आरोपी पीड़िता को बार-बार फोन कर तंग करता था, जिस कारण पीड़िता ने उसका नंबर भी ब्लॉक किया हुआ था.

शनिवार देर रात तक जब पीड़िता कंपयूटर सेंटर से घर नहीं पंहुची तो उसके परिजनों द्वारा उसे हर जगह ढूंढा , लेकिन उसका कहीं पता कहीं नहीं चला. जब पीड़िता को ढूंढ़ते हुए उसके परिजन डोगरी नाला के पास पहुंचे तो वह नाले के साथ लगती सतलुज नदी में आत्महत्या करने जा रही थी. इस पर पीड़िता को उसके परिजनों ने रोका और उसने उसके साथ घटित सारे घटनाक्रम से उन्हें अवगत करवाया गया. पीड़िता को उसके परिजनों द्वारा घर लाया गया और रविवार देर रात बीएसएल थाना सुंदरनगर में आकर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करवाया गया.

बीएसएल थाना पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 376 और 506 में मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी गई है. युवती का मेडिकल जोनल अस्पताल मंडी में करवा दिया गया है. वहीं दुराचार मामले में सोमवार को पुलिस ने भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 164 के अंतर्गत पीड़ित युवती का बयान न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी चच्योट स्थित गोहर अशोक कुमार के न्यायालय के समक्ष दर्ज करवा दिया है.