अयोध्या विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने तीसरे पक्ष की सभी हस्तक्षेप याचिकाएं खारिज की

नई दिल्ली. अयोध्या विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है. राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले में बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने पहला फैसला सुनाते हुए तीसरे पक्षों की सभी हस्तक्षेप याचिकाएं खारिज कर दीं. कोर्ट ने इस मामले में सभी 32 हस्तक्षेप याचिकाओं को खारिज कर दिया है. इनमें अपर्णा सेन, श्याम बेनेगल, सुब्रमण्यम स्वामी और तीस्ता सीतलवाड़ की भी याचिकाएं थीं.

गुजरात विधानसभा में शर्मनाक घटना, कांग्रेस विधायक ने बीजेपी विधायक पर किया बेल्ट से हमला

सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी याचिका को सुनवाई में शामिल करने के लिए दलील दी कि प्रॉपर्टी राइट्स से मेरा फंडामेंटल राइट ज्यादा महत्वपूर्ण है लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उनकी बात नहीं सुनी.

पिछली बार 1 फरवरी को इस मामले की सुनवाई हुई थी, तब वाल्मीकि रामायण, रामचरितमानस और गीता सहित 20 धार्मिक पुस्तकों से इस्तेमाल किए तथ्यों का अंग्रेजी में ट्रांसलेशन न होने की वजह से सुनवाई टालनी पड़ी थी.