सूरजकुंड क्राफ्ट मेला 1 फरवरी से, महाराष्ट्र और थाइलैंड की दिखेगी झलक

सूरजकुंड मेला परिसर में महाराष्ट्र के कलाकारों ने साफ-सफाई... - Panchayat Times
फाइल फोटो

फरीदाबाद. 33वें इंटरनेशनल सूरजकुंड क्राफ्ट मेले की शुरुआत 1 फरवरी से होगी. मेले में थीम स्टेट महाराष्ट्र व पार्टनर कंट्री के रूप में थाइलैंड है. ये दोनों ही अपने यहां की संस्कृति, वेशभूषा, रहन-सहन और खानपान को मेले के अंदर प्रदर्शित करेंगे. मेला परिसर को सजाने के लिए हरियाणा टूरिज्म और महाराष्ट्र टूरिज्म ने संयुक्त रूप से कार्य करना शुरू कर दिया है.

मेले को सजाने के लिए महाराष्ट्र से कलाकार ने मोर्चा संभाल लिया है. महाराष्ट्र के आर्टिस्ट इस वक्त पूरे मेला परिसर को रायगढ़ थीम में ढालने को लेकर काम कर रहे हैं. हरियाणा टूरिज्म के आर्केटेक्ट ने बताया कि इस वक्त कलाकारों ने डिजाइन पर काम करना शुरू किया है और 10 दिन के अंदर काम दिखाई देना शुरू हो जाएगा. वहीं हरियाणा पर्यटन विभाग ने भी मेला परिसर को साफ-सुथरा बनाने के लिए काम शुरू किया हुआ है.

सूरजकुंड मेला परिसर में महाराष्ट्र के कलाकारों ने साफ-सफाई... - Panchayat Times
प्रतीक चित्र

ये भी पढ़ें- सरस्वती में ताजा पानी प्रवाहित करना सरकार की प्राथमिकता : मनोहर लाल

हरियाणा पर्यटन के आर्केटेक्ट धर्मवीर ने बताया कि मेले में महाराष्ट्र के कलाकार अपने यहां के प्रसिद्ध ऐतिहासिक गेट बनाएंगे. दूसरी तरफ चौपाल को बैठने लायक बनाया जा रहा है. विशेष तौर पर स्वच्छ भारत मिशन को ध्यान में रखते हुए टॉयलेट को नया लुक देने पर काम चल रहा है. मिनिस्ट्री की तरफ से आदेश आए हैं कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत टॉयलेट को बेहतर बनाएं. अंतर्राष्ट्रीय सूरजकुंड मेला के नोडल अधिकारी राजेश जून का कहना है कि हाल ही में महाराष्ट्र की टीम ने मेला परिसर में मोर्चा संभाल लिया है. दस दिन के अंदर ही काम दिखाई देना शुरू हो जाएगा.