रांची. जानेमाने समाजसेवी, बंधुआ मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और आदिवासियों, विस्थापितों के प्रखर नेता स्वामी अग्निवेश की जिला मुख्यालय के अम्बेडकर चौक के निकट भारतीय जनता युवा मोर्चा, विद्यार्थी परिषद के दर्जनों कार्यकर्ताओ ने मंगलवार को पिटाई कर दी. दरअसल अग्निवेश अखिल भारतीय आदिम जनजाति विकास समिति द्वारा लिट्टीपाड़ा प्रखंड मुख्यालय में आयोजित दामिन दिवस स्थापना महोत्सव में बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा लेने पहुंचे थे.

जब वह कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए होटल मुस्कान से निकलकर अपनी गाड़ी में बैठने जा ही रहे थे कि पूर्व से उनका विरोध और काला झंडा दिखा रहे परिषद और भाजयुमो के कार्यकर्ता उनपर टूट पड़े और लात घुसे से लगभग उनकी पिटाई की गई. इनता ही नहीं उन्हें काला झंडा भी दिखाया गया. इसके साथ ही स्वामी अग्निवेश गो बैक के नारे लगाए गए हैं.

बता दें कि स्वामी अग्निवेश लिट्टीपाड़ा में 195वां दामिन महोत्सव में हिस्सा लेने पहुंचे थे. लेकिन उन्हें कार्यक्रम स्थल पर जाने से रोका गया. वह वापस पाकुड़ के होटल मुस्कान में लौट आए. भाजपा कार्यकर्ताओं का कहना है कि स्वामी अग्निवेश आदिवासियों को भड़काने का काम कर रहे हैं. वहीं, पुलिस ने दो दर्जन भाजपा कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है.

गौरतलब है कि इससे पहले मई, 2011 में गुजरात के अहमदाबाद में एक जनसभा के दौरान स्वामी अग्निवेश के साथ एक संत ने अभद्रता की. जनसभा के दौरान संत ने स्वामी अग्निवेश को थप्पड़ मारा. संत की पहचान महंत नित्यानंद दास के रूप में हुई थी. अमरनाथ में शिवलिंग के बारे में अग्निवेश ने हाल ही में दिए गए बयान से संत नाराज था. उसे बाद में गिरफ्तार कर लिया गया था.