हेमंत सोरेन का शपथ ग्रहण होगा ऐतिहासिक, पीएम ने बाद में आने का किया वादा

कोरोना वायरस : राहत कोष में दान करें :सीएम- Panchayat Times

रांची. रविवार को रांची के मोरहाबादी मैदान में एक और इतिहास बनने जा रहा है. विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत हासिल कर झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेनेवाले हेमंत सोरेन की ताजपोशी कई मायनों में ऐतिहासिक होगी. दोपहर दो बजे शुरू होनेवाले इस शपथ ग्रहण समारोह में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, आधा दर्जन राज्यों के मुख्यमंत्री और दर्जन भर राष्ट्रपति नेता शिरकत करेंगे. यह पहला मौका होगा, जब इतनी नामचीन हस्तियां झारखंड में किसी समारोह में शामिल होंगी.

राज्य में पहली बार इतनी बड़ी जीत हासिल करने के बाद मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह को भव्य और गरिमामय बनाने के साथ यादगार बनाने के लिए हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं.

आज से ही पहुंचने लगेंगे अतिथि

शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए अतिथियों के आने का सिलसिला शनिवार से ही शुरू हो जायेगा. इन अति विशिष्ट मेहमानों के ठहरने से लेकर उनके प्रवास को यादगार बनाने की पूरी तैयारी की जा रही है. उनकी सुरक्षा और मूवमेंट के लिए कारकेड आदि का इंतजाम लगभग पूरा कर लिया गया है.

पीएम ने दी शुभकामना, बाद में आने का किया वादा

हेमंत सोरेन ने अपने दिल्ली प्रवास के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शपथ ग्रहण में आने का न्योता दिया था, लेकिन समयाभाव के कारण पीएम ने आने में असमर्थतता जतायी है. हालांकि उन्होंने नये मुख्यमंत्री को शुभकामनाएं दी हैं और बाद में झारखंड आने का वादा किया है.

रघुवर दास भी शामिल होंगे

हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह में निवर्तमान मुख्यमंत्री रघुवर दास भी शामिल होंगे. उनकी कैबिनेट के पूर्व सहयोगियों के अलावा नयी विधानसभा के सभी सदस्यों और उनके परिजनों को भी समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है.

हवाई अड्डे पर भी तैयारी पूरी

अति विशिष्ट मेहमानों के आगमन को लेकर बिरसा मुंडा हवाई अड्डे पर भी विशेष तैयारी की गयी है. जानकारी के अनुसार शनिवार-रविवार को दर्जन भर विमानों के आने की संभावना है.

ये वीवीआइपी भी होंगे शामिल

पी चिदंबरम (पूर्व केंद्रीय मंत्री), अहमद पटेल (कांग्रेस नेता),अखिलेश यादव (सपा अध्यक्ष),तेजस्वी यादव (राजद नेता),शरद पवार (एनसीपी अध्यक्ष), ममता बनर्जी (पश्चिम बंगाल की सीएम),अशोक गहलोत (राजस्थान के सीएम),कमलनाथ (मध्यप्रदेश के सीएम),भूपेश बघेल (छत्तीसगढ़ के सीएम),उद्धव ठाकरे (महाराष्ट्र के सीएम),अरविंद केजरीवाल (दिल्ली के सीएम),एमके स्टालिन (द्रमुक अध्यक्ष) मायावती (बसपा सुप्रीमो),एचडी कुमारस्वामी (जद-एस नेता),हरिवंश (राज्यसभा के उपसभापति),कन्हैया कुमार (भाकपा नेता),केसी वेणुगोपाल (कांग्रेस),आरपीएन सिंह (प्रदेश कांग्रेस प्रभारी),प्रणव झा (कांग्रेस) उमंग सिंघार (प्रदेश सह प्रभारी),चंद्रबाबू नायडू (टीडीपी अध्यक्ष),टीआर बालू (द्रमुक सांसद),कनीमोझी (द्रमुक सांसद),अब्दुल बारी सिद्दीकी (राजद नेता),हरीश रावत (कांग्रेस नेता),निरंजन पटनायक (ओड़िशा कांग्रेस अध्यक्ष)