तीरा सुजानपुर

पृष्ठभूमि :-

तीरा सुजानपुर विधानसभा विधानसभा हमीरपुर जिले में हमीरपुर लोकसभा के अंतर्गत आनेवाली विधानसभा है. हिमाचल प्रदेश विधानसभा की कुल 68 सीटों में , तीरा सुजानपुर विधानसभाकी सीट संख्या 37 है. यह विधानसभा 2008 के परिसीमन के बाद अस्तित्व में आई जिसमे निर्दलीय राजेंदर सिंह यहाँ से विधायक चुने गए. उसके दो साल बाद उन्होंने यहाँ से इस्तीफा दे दिया. जिसके बाद 2014 के उप-चुनाव में भाजपा के नरेंद्र ठाकुर यहाँ से पहली बार विधायक चुने गए.2012 की विधानसभा में यहाँ पर मतदाताओं की कुल संख्या 64,056 थी . जिनकी संख्या बढकर 2017 में  67,065  हो गयी है.

तीरा सुजानपुर विधानसभा व्यास नदी के तट पर स्थित है. ऐसा माना जाता है कि तीरा सुजानपुर नाम इसलिए पड़ा कि वहां के लोग अच्छे, ईमानदार और धार्मिक विचारधारा के साथ-साथ बहुत मेहमान नवाज और सहयोगी हुआ करते थे. संसार चंद कटोच यहाँ के प्रसिद्द राजा हुए जिन्होंने अपना प्रशासन, महल, मंदिर आदि को सुजानपुर की पहाड़ियों पर स्थापित किया. सुजानपुर के बीचोबीच एक वर्ग किलोमीटर ग्रीन मिट्टी मैदान है जिसे पहाड़ी भाषा में ‘चौगान’ कहा जाता है. (जो कि पूरे वर्ष हरा रहता है)। इस शहर में राजा द्वारा निर्मित दो प्रसिद्ध मंदिर हैं. बंशीधर (भगवान कृष्ण के लिए) हैं, और दूसरा नरवदेव, बहाद नदी पर स्थित है.

विधानसभा : संक्षिप्त जानकारी

विधानसभा सं. 37
सीट की प्रकृति सामान्य
प्रमुख बोलियां सुजानपुर की मूल भाषा हिंदी है और गांव के अधिकांश लोग संवाद के लिए हिंदी बोलते हैं

पिछले चुनावों में विधानसभा की स्थिति

विधानसभा चुनाव/साल 2009 आम चुनाव 2012 विधानसभा 2014 आम चुनाव
सुजानपुर पार्टी भाजपा कांग्रेस निर्दलीय कांग्रेस भाजपा कांग्रेस
वोट प्रतिशत 51.80% 45.80% 55.00% 23.40% 52.00% 45.10%

2012 विधानसभा चुनाव:

उम्मीदवार पार्टी कुल मत
राजिंदर सिंह निर्दलीय 24674
अनीता वर्मा कांग्रेस 10508
उर्मिल ठाकुर बीजेपी 8853

मतदाताओं की संख्या

विधानसभा (2017) आम निर्वाचक अप्रवासी भारतीय निर्वाचक
स.न. नाम पुरुष महिला अन्य कुल पुरुष महिला समस्त

योग (6+7+8)

1 2 3 4 5 6 7 8 9
1 सुजानपुर 32394 34671 0 67065 0 0 67065
विधानसभा (2012) आम निर्वाचक अप्रवासी भारतीय सरकारी सेवारत मतदाता
स.न. नाम पुरुष महिला अन्य कुल पु. म. अन्य कुल पु. म. कुल समस्त

योग (6+10+13)

1 सुजानपुर 29396 31445 0 60841 0 0 0 0 2445 922 3367 64208
प्रमुख नेता

पहले यह बसान विधानसभा क्षेत्र था जो बाद में परिसीमन के बाद सुजानपुर हुई. भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रेमकुमार धूमल जो अभी हमीरपुर से विधायक हैं, इससे पहले इसी विधानसभा से विधायक हुआ करते थे. वर्तमान विधायक नरेंद्र ठाकुर पूर्व मंत्री जगदेव ठाकुर के पुत्र हैं. सुजानपुर सीट से एक बार फिर प्रेम कुमार धूमल चुनाव लड़ने जा रहे हैं. धूमल ने राजनीतिक जीवन की शुरुआत1984 में संसदीय चुनावों में भाग लेकर किया और पराजित हुए, किंतु 1989 में विजयी हुए. 1991 में पुनः हमीरपुर की लोकसभा सीट से विजयी हुए तथा हिमाचल प्रदेश की बीजेपी इकाई के अध्यक्ष बने. 1996 के लोकसभा चुनावों में हार का सामना करना पड़ा. फिर 1998 के विधानसभा चुनावों में बमसन क्षेत्र से जीतकर प्रदेश में भाजपा-हिविंका गठबंधन के मार्च 1998 से मार्च 2003 तक मुख्यमंत्री रहे. दिसंबर 2007 से दिसंबर 2012 तक वह मुख्यमंत्री पद पर आसीन रहे. अभी वह प्रदेश भाजपा अध्यक्ष हैं और मुख्यमंत्री पद के दावेदार हैं.

उम्मीदवार 2017

विधानसभा में सम्भावित प्रत्याशी / उम्मीदवार
प्रमुख नेता भाजपा कांग्रेस अन्य
1. प्रेम कुमार धूमल राजेन्द्र राणा जोगिन्दर कुमार (माकपा)
2. प्रवीण कुमार (बसपा)
वर्तमान स्थिति :

राजिंदर सिंह जो इस विधानसभा से निर्दलीय चुनाव जीतने में सफल रहे थे दो साल जब उन्होंने इस्तीफा दिया तब इस सीट पर एक बार फिर भाजपा का कब्ज़ा हुआ जब 2014 के बाई इलेक्शन नरेंदर ठाकुर यहाँ से चुनाव जीतने में सफल रहे थे. इस सीट पर ठाकुर मतदाताओं का दबदबा है. लेकिन इस बार भाजपा के प्रत्याशी और मुख्यमंत्री पद के दावेदार प्रेम कुमार धूमल यहाँ से चुनाव लड़ेंगें. चूँकि यह उनकी परंपरागत सीट है इसलिए उन्हें यहाँ कोई तकलीफ नहीं होनी चाहिए.

Chaupal

बूथों की संख्या: 103

पिछली विधानसभा में महिला पुरुष के मतों का %

  • पुरुष
  • महिला

पिछली विधानसभा में पार्टियों की स्थिति

  • कांग्रेस
  • निर्दलीय

प्रमुख मुद्दे

आपकी विधान सभा की प्रमुख समस्यायें आपकी विधानसभा के लोगों के सपनें (माँगें / उम्मीदें)
 1. सुजानपुर में बस स्टैंड न होना, मिनी सचिवालय की मांग कई सालों से उठ रही है. कार्य चल रहा.
 2. सुजानपुर में सड़कों की हालत खस्ता पानी की आपूर्ति सही तरीके से की जाए.
 3. सुजानपुर में आवारा पशुओं व कुत्तों और बन्दरों की समस्या, लोगों को स्कुली बच्चों को अकेले स्कुल भेजना हो रहा मुश्किल. काफी सालों से लोगो की बस स्टैड बनाने की मांग.
 4. सुजानपुर की अधिकतर पंचायतों में पानी की किल्लत, साथ ही लगी अधिकतर सोलर लाइटें खराब, सुजानपुर हमीरपुर मार्ग पर भलेठ पुल की हालत खस्ता, हर रोज लगता है दो से ढाई घण्टे जाम, यात्रियों को होती है परेशानी, नये पुल का कार्य चल रहा है. पानी की प्रमुख समस्या कोई स्थायी समाधान नहीं.

मिनी सचिवालय की समस्या.

 5. सुजानपुर के एतिहासिक किलों की नहीं हो रही देखभाल, पर्यटन विभाग नहीं वर्ना पर्यटन नगरी से जाना जा सकता था सुजानपुर को. स्कूलों और अस्पतालों में स्टाफ की कमी चल रही है.