केंद्र और किसानों के बीच 8वें दौर की बैठक भी रही बेनतीजा, अगली बैठक 15 जनवरी को

केंद्र और किसानों के बीच 8वें दौर की बैठक भी रही बेनतीजा, अगली बैठक 15 जनवरी को
Source - Twitter

नई दिल्ली. केंद्र सरकार और किसान संगठनों की बीच आज यानि शुक्रवार को 8वें दौर की बैठक हुई. पिछली सभी बैठकों की तरह आज की बैठक में भी कोई हल निकल कर नहीं आया. बैठक में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और सोमप्रकाश मौजूद रहें.

किसान आंदोलन का आज 44वां दिन है. 26 नवंबर से किसान संगठनों ने राजधानी दिल्ली का घेराव किया हुआ है. केंद्र और किसानों के बीच आज 8वें दौर की बैठक बेनतीजा रही, अब अगली बैठक 15 जनवरी को तय की गई है.

किसान नेता राजेवाल ने नये कृषि कानूनों में संशोधनों को रिजेक्ट करते हुए कहा कि सरकार के पास कानून बनाने का संवैधानिक अधिकार नहीं है. सरकार को अपनी कानूनी टीम से बात कर बताना चाहिए कि वे कानून वापस ले सकते हैं या नहीं. साफ बता दें कि कानून वापस नहीं लिए जा सकते हैं तो हम वार्ता छोड़कर चले जाएंगे.

कृषि कानून वापस नहीं होंगे – नरेंद्र तोमर

कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने आज 8वें दौर की वार्ता शुरू होने से पहले मीडिया से बात करते हुए कहा कि वे कृषि कानूनों को वापस लेने के पक्ष में नहीं है. इसके अलावा किसानों की जो भी मांग होगी उसपर चर्चा की जा सकती है.

किसानों ने किया था शक्ति प्रदर्शन

गुरूवार को किसान संगठनों द्वारा कृषि कानूनों के खिलाफ ट्रेक्टर मार्च निकाल कर शक्ति प्रदर्शन किया गया था. किसान तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अडिग है. दिल्ली के बॉर्डर पर डटे किसान शीतलहर और बारिश में भी अपना हौसला बनाये हुए है.