अप्रैल से समिति के खाते में जाएगी विकास की राशि

रांची. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि इस वर्ष 2018 तक राज्य के 30 लाख घर तक रौशनी पहुंचाने का काम सरकार कर रही है. जो गांव पहाड़ों पर हैं वहां सोलर के माध्यम से बिजली पहुंचाई जा रही है. बिजली के रहने से युवा पढ़ाई कर सकेंगे, कुटीर एवं लघु उद्योग को बढ़ावा मिलेगा.

उन्होंने कहा कि किसान बेहतर पैदावार कर सकेंगे. किसानों के लिए अलग-अलग फीडर से बिजली उपलब्ध करायी जा रही है. सरकार बनने के तीन वर्ष के अंदर चंदनकियारी (बोकारो) सहित राज्य के हर गांव में बिजली पहुंच गयी है. राज्य की जनता को 24×7 बिजली उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है. उक्त बातें मुख्यमंत्री ने चंदनकियारी में आयोजित स्वर्गीय पार्वती चरण महतो की जयन्ती के अवसर पर विकास मेला को संबोधित करते हुए कही.

झारखंड में है देश का 40 प्रतिशत प्राकृतिक संसाधन

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार 2022 तक झारखण्ड को समृद्ध और स्वाबलंबी राज्य बनाने का संकल्प लिया है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी संकल्प से समृद्धि को प्राथमिकता दे रहे हैं. प्रधानमंत्री का सपना है कि हम सब मिलकर भारत को न्यू इन्डिया बनाएं. राज्य सरकार गांव, गरीब और किसान के उत्थान के लिए कटिबद्ध है. देश का 40 प्रतिशत प्राकृतिक संसाधन झारखण्ड में है. मेहनती मानव संसाधन है. कोई कारण नहीं कि झारखण्ड विकसित राज्यों की श्रेणी में पीछे रहे.

गांव के विकास के लिए ग्रामीण अपना श्रम दान करे

उन्होंने कहा कि गांव के विकास कार्य ग्रामीणों के माध्यम से ही किया जाएगा; इसके लिए ग्राम विकास समिति का गठन किया जा रहा है. इस समिति के अध्यक्ष एवं सदस्य महिला, युवा एवं जनप्रतिनिधि ही होंगे. गांव के विकास की रणनीति ग्रामीण तय करेंगे. अप्रैल महीने से विकास की राशि सीधे समिति को दिये जाएंगे. गांव के विकास के लिए ग्रामीण अपना श्रम दान करे.

हर गांव में महिला सखी मंडल हुआ

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के युवा को प्रशिक्षण देने का काम सरकार कर रही है. झारखण्ड की महिलाएं मेहनती हैं. कृषि, पशुपालन आदि के क्षेत्र में महिलाएं आगे हैं. हर गांव में महिला सखी मंडल का निर्माण किया गया है. झारखण्ड को 5 वर्ष के अंदर पर्यटन राज्य के रूप में जाना जायेगा. रजरप्पा, देवघर सहित अन्य पर्यटन स्थल को विकसित किया जा रहा है.

दो माह में चंनदनकियारी आवासीय विद्यालय को सरकारी मान्यता

रघुवर दास ने कहा बच्चों को स्कूल जरूर भेजें. शिक्षा से ही गरीबी दूर होगी. दो महीने के अंदर चंनदनकियारी के आवासीय विद्यालय को सरकारी मान्यता दी जायेगी. समाज बेटा और बेटी में फर्क न करें. सभी को पढ़ाई का हक है. बचपन में बेटी की शादी न करें. सरकार बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ को नारा न रहने दे इसे शक्ति के रूप में अपनाएं. प्रधानमंत्री ने कल मन की बात में झारखण्ड की महिलाओं की तारीफ की है.

मुख्यमंत्री ने कहा झारखण्ड में 15 लाख परिवारों को मुफ्त में चूल्हा और गैस देने का काम किया है. अब झारखण्ड में सभी गरीब आदिवासी, अनुसूचित जाति, पिछड़ा, अत्यंत पिछड़ा जाति को चूल्हा और गैस मुफ्त में दिया जायेगा. प्रधानमंत्री की सोच को झारखण्ड सरकार साकार कर रही है. जनता आगे बढे, सरकार साथ चलेगी. मुख्यमंत्री ने स्वर्गीय पार्वती चरण महतो की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया. साथ ही कहा कि उनके सपनों का झारखण्ड बनाना हम सभी का कर्तव्य है. मौके पर मुख्यमंत्री ने विकास मेला में लगे स्टाॅल का परिभ्रमण भी किया.

चंदनकियारी पॉवर सब ग्रीड बनकर तैयार

मंत्री पर्यटन, कला, संस्कृति, खेल कूद, युवा एवं राजस्व निबंधन अमर कुमार बाउरी ने कहा कि 2014 में जब मैं विधायक बना तब यह क्षेत्र पिछड़ा हुआ था. आज यहां के प्रत्येक गांव बिजली से आच्छादित हैं. राज्य सरकार ने गुणवत्तापूर्ण बिजली लोगों को उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया है. आज बच्चे देर शाम तक पढ़ाई कर पा रहे हैं. चंदनकियारी पॉवर सब ग्रीड बन कर तैयार है. पहले योजना का शिलान्यास मात्र होता था. लेकिन मुख्यमंत्री जी ने तय समय-सीमा के अंदर प्रत्येक योजना को जमीन पर उतारने का निर्देश दिया है. चंदनकियारी विधानसभा क्षेत्र में पांच पॉवर सब स्टेशन बन रहा है, जिसके पूरा होने के बाद यहाँ 24×7 बिजली रहेगी. क्षेत्र में सड़क के निर्माण से व्यवसायी यहाँ अपना व्यवसाय फैलाने का काम कर रहे हैं. गबई बराज योजना के 140 करोड़ की लागत से हो रहा है. योजना के पूरा होने से यहाँ के किसानों को लाभ मिलेगा.

पर्वतपुर कोल ब्लॉक खुलवाने की अपील

उन्होंने कहा कि झारखण्ड पहला राज्य है, जहाँ किसानों के लिए अलग बजट लाया गया है. पूरे राज्य में तालाबों का जीर्णोद्धार किया गया है, जिससे जल स्तर सुधरा है. इलेक्ट्रो स्टील का स्थापन चंदनकियारी में हुआ है. माननीय मुख्यमंत्री जी से आग्रह है कि वे पर्वतपुर का कोल ब्लॉक फिर से प्रारंभ करवाने की पहल करें. ताकि यहाँ के 20,000 से अधिक बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा. कलाका विकास  संस्कृति को आगे बढ़ाने के लिए इस क्षेत्र में जल्द ही कुड़मालि भाषा के पुस्तकालय का निर्माण होगा. तीन पंचायत लंका, फुसरो और आद्रपुरी- तीन पंचायत जो बॉर्डर इलाका का है उसे राज्य सरकार गोद लेकर उसकरे. स्वर्गीय पार्वती चरण महतो जोन के लिए एक एम्बुलेंस दिया.

कुड़माली पुस्तकालय की मांग

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्वर्गीय पार्वती चरण महतो के पुत्र श्री प्रभाष महतो ने कहा कि स्वर्गीय पार्वती चरण महतो कुड़माली लेखक थे. आज उनके आशीर्वाद से ही हम भी समाज सेवा से जुड़े हैं. उन्होंने इस क्षेत्र में आवासीय बालिका विद्यालय, एक कुड़माली पुस्तकालय की मांग मुख्यमंत्री रघुवर दास से मंच के माध्यम से किया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी और मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में आज हर गरीब के सर पर छत नसीब हुआ है.

मौके पर बगोदर विधायक नागेंद्र महतो, पूर्व विधायक समरेश सिंह, जिला परिषद अध्यक्ष सुषमा देवी, बरमसिया प्रमुख एवं उपप्रमुख सहित बड़ी संख्या में मौजूद रहे.

कॉमेंट करें

अपनी टिप्पणी यहाँ लिखें
अपना नाम यहाँ लिखें