मानसून सत्र से पहले विधानसभा अध्यक्ष ने बुलाई बैठक, नहीं पहुंचे विधायक दल के नेता

रांची. आगामी 16 जुलाई से शुरू होने वाले मानसून सत्र को सुचारू रूप से चलाने के लिए विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव ने विधायक दल के नेताओं के साथ शुक्रवार को एक बैठक बुलाई थी. लेकिन इस बैठक में महज राज्य के ग्रामीण विकास विभाग और संसदीय कार्य मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, पेयजल संसाधन मंत्री सीपी चौधरी और बसपा के विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता शामिल हुए.

विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव के कक्ष में आहूत इस बैठक में राज्य के मुख्यमंत्री नहीं पहुंचे तो वही नेता प्रतिपक्ष भी इस बैठक में शामिल नहीं हुए. विपक्षी दलों के नेताओं ने भी इस बैठक में शिरकत नहीं की. हालांकि यह बैठक लगभग एक घंटे तक चली. जिसमें मानसून सत्र को लेकर रणनीति तैयार की गई.

इस बैठक में शामिल हुए बहुजन समाजवादी पार्टी के विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता ने कहा कि ऐसा लगता है कि विपक्ष सदन चलाने को लेकर गंभीर नहीं है. जबकि छोटे दल के लोग चाहते हैं कि सदन सुचारु रूप से चल सके. ताकि जनता से जुड़े मुद्दों को सदन के पटल पर रखा जा सके.

वही संसदीय कार्य मंत्री मुंडा ने भी कहा कि सत्ता पक्ष चाहती है कि सदन सुचारू रूप से चल सके और विपक्ष के हर सवालों का जवाब देने के लिए सत्तापक्ष तैयार है. यही वजह है कि सत्ता पक्ष ने अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए इस बैठक में मौजूदगी दर्ज की है.