चौकीदार को गाड़ी सहित जलाया, मामूली विवाद बनी हत्या की वजह

रांची. चौकीदार राजू महतो की हत्या के बाद बोलेरो सहित आग लगा दी. वहीं उनके एक साथी संजय कर्मकार पर भी तलवार से हमला हुआ है. राजू महतो तमाड़ थाना ने कार्यरत थे. उनके शव को अनगड़ा थाना क्षेत्र से बरामद किया गया है. मृतक की पत्नी की ओर से की गई शिकायत के आधार पर एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है. अभी तक मुख्य आरोपी सहित चार फरार हैं.

चौकीदार राजू के दोस्त संजय कर्मकार व भंजन हजाम के मुताबिक शनिवार की रात राजू अपना बोलेरो ठीक करवाकर लौट रहा था. वह गांव नावाडीह भिठुडीह के नजदीक एक दुकान के पास रुका. वहां पर पहले से कुलकेश्वर कर्मकार अपने पांच-सात साथियों के साथ शराब पी रहा था. इस बीच दोनों पक्षों के बीच विवाद हो गया और किसी ने राजू पर गोली चला दी. जब उन्हें बचाने के लिए संजय कर्मकार पहुंचे तो उनपर भी धारदार हथियार से हमला कर दिया.

एसपी (ग्रामीण) अजीत पीटर ने कहा कि मामले की जांच चल रही है, पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया है.

घटना स्थल से भागकर भंजन हजाम घर पहुंचे और अपने घरवालों को मामले की सूचना दी. कुलकेश्वर कर्मकार और उसके साथी राजू के शव को बोलेरो में डालकर अनगड़ा थाना क्षेत्र के राहे-हाहे पथ में कोंतोटोली से आगे नारायण घाटी में ले गए. वहां उन्होंने शव सहित बोलेरो में आग लगा दी. सुबह लोगों को घटना की जानकारी मिल पाई.

कहा जा रहा है कि कुछ दिन पहले कुलेश्वर कर्मकार की खस्सी को राजू ने मार कर खा लिया था. कुलेश्वर पूर्व में राजू का की गाड़ी का ड्राइवर था.

कॉमेंट करें

अपनी टिप्पणी यहाँ लिखें
अपना नाम यहाँ लिखें