नम आखों के साथ शहीद नितिन राणा का हुआ अंतिम संस्कार

नम आखों के साथ शहीद नितिन राणा का हुआ अंतिम संस्कार-Panchayat Times
फाइल फोटो

किन्नौर. किन्नौर में नामज्ञा डोगरी के पास हिमस्खलन की चपेट में आने से शहीद हुए जयसिंहपुर के जवान शहीद नितिन राणा का रविवार को उनके पैतृक गांव में सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. छोटे भाई शहीद निखिल राणा ने शाहीद नितिन की पार्थिव देह को मुखाग्नि दी. निखिल भी भारतीय सेना में सेवाएं दे रहे हैं.

वह जैक राइफल में जम्मू में तैनात हैं. रविवार सुबह शहीद का शव उनके पैतृक गांव रिट पहुंचा. शहीद को अंतिम विदाई देने के लिए भारी संख्या में लोग रिट पहुंचे. जब से नितिन राणा के हिमस्खलन के चपेट में आने की सूचना मिली थी. तब से उनके गांव में माहौल गमगीन था. रविवार सुबह जैसे की शव घर पहुंचा परिवार के लोग उसे देख बिलख पड़े. इस दौरान जयसिंहपुर के वर्तमान विधायक रविंद्र धीमान और पूर्व विधायक यादविंद्र गोमा मौजूद रहे.

कांगड़ा के जवान की ट्रेनिंग के दौरान हुई मौत, छोटे भाई ने दी मुखाग्नि

गौर हो कि 27 वर्षीय नितिन राणा पुत्र सुभाष चंद, निवासी रिट, जयसिंहपुर का शव शनिवार को सर्च ऑपरेशन के दौरान बरामद हुआ था. शिपकिला बॉर्डर से लगते नामज्ञा डोगरी के पास 20 फरवरी को ग्लेशियर खिसकने से नियमित गश्त पर निकले जम्मू-कश्मीर राइफल्स के छह जवान बर्फ में दब गए थे. उसके बाद सर्च ऑपरेशन के 11वें और 13वें दिन नालागढ़ और पश्चिम बंगाल के जवानों के शव बरामद हुए थे. अभी भी ग्लेशियर में 2 जवान लापता हैं, जिनकी तलाश की जा रही है.