गुर्जर समुदाय ने वन विभाग की महिला अधिकारियों पर किया हमला

कांगड़ा. कसौली गोलीकांड मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि एक और मामला सामने आ गया है. कांगड़ा के ज्वाली में गुर्जर समुदाय ने वन विभाग की महिला अधिकारियों पर हमला बोल दिया. इस हमले में दो महिला अधिकारी गंभीर रूप से घायल हो गई हैं.

मिली जानकारी के अनुसार गुर्जर समुदायने विभाग के पूरे स्टाफ के साथ मारपीट की. गुरुवार को वन विभाग की टीम हाईकोर्ट के आदेश के तहत गुर्जर समुदाय के लोगों को यहां से हटाने की कार्रवाई अमल में ला रही थी. वन विभाग का तर्क था कि सैंक्चुरी एरिया में पशुओं को चराने का कार्य किया जा रहा था.

कसौली हत्याकांड में वो अधिकारी भी जिम्मेदार जो…

बताया जा रहा है कि पौंग झील वेटलैंड एवं बर्ड सेंक्चुअरी क्षेत्र में हर साल पंजाब और जम्मू-कश्मीर के घुमन्तु गुर्जर समुदाय के लोग बिना रोकटोक के पशु चराने के लिए आते हैं. ऐसे में प्रदेश हाईकोर्ट के आदेशों के अनुसार जब पौंग झील में चराने आए गुज्जरों से वन विभाग के अधिकारियों ने पहचान पत्र मांगे तो उन्होंने कोई भी पहचान पत्र दिखाए बिना अधिकारियों पर पथराव करना शुरू कर दिया.

अवैध निर्माण हटाने गई महिला कर्मी की हत्या, पुलिस की मौजूदगी में भागा आरोपी होटल मालिक

जिसमें महिला वन गॉर्ड नेहा को गम्भीर चोटें आईं. यहां तक की महिला घुमन्तु गुज्जरों ने महिला फोरेस्टगॉर्ड नीतू को लातों ओर घूंसों से मारना शुरू कर दिया. वहीं नजदीकी गांव की महिलाएं अगर बचाव में नहीं आती तो ये गुर्जर महिलाएं फोरेस्टगार्ड नीतू को जान से ही मार देती.