हिमाचल में फिर बदला मौसम,तीन जिलों का पारा माइनस में

शिमला. हिमाचल प्रदेश में मार्च के महीने में भी सर्दी कहर बरपा रही है. राज्य के अधिकांश पहाड़ी क्षेत्रों में पारा जमाव बिंदू से नीचे बना हुआ है.

लाहौल-स्पीति, किन्नौर और कुल्लू जिलों में सोमवार को न्यूनतम तापमान माइनस में रिकॉर्ड किया गया. लाहौल-स्पीति का केलंग सबसे ठंडा स्थल रहा. वहां न्यूनतम तापमान -6.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ. विगत चार महीने से केलंग में पारा माइनस में चल रहा है और इलाके प्राकृतिक स्त्रोतों का पानी जमा गया है.

किन्नौर के कल्पा और कुल्लू के विख्यात पर्यटन स्थल मनाली में न्यूनतम तापमान -0.4 डिग्री सेल्सियस रहा. इसके अलावा मशोबरा में 2.3, कुफरी में 3.1, सियोबाग में 3.8, डलहौजी में 4.8, सोलन में 5.2, शिमला व भुंतर में 5.7, चंबा में 6.5, सुंदरनगर में 6.8, धर्मशाला में 7.2 और कांगड़ा में 8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.

मौसम विभाग ने अगले 24 घण्टों के दौरान मौसम के साफ रहने का अनुनान जताया है, लेकिन इसके बाद बारिश व बर्फबारी का दौर चलने से ठंड फिर बढ़ जाएगी.

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि 4 से 7 मार्च तक राज्य में बारिश व बर्फ़बारी के आसार हैं. मैदानी व मध्यप्रवतीय इलाकों में 5 मार्च को गरज के साथ तेज ओलावृष्टि की आशंका है, जिसे लेकर येलो अलर्ट जारी किया गया है.